बुलंदशहर गैंगरेप मामले पर आजम खान को फटकार

नई दिल्ली (29 अगस्त): यूपी के मंत्री आजम खान और यूपी सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस दिया है। बुलंदशहर में मां-बेटी से गैंगरेप के मामले में आजम खान ने सियासी आरोप की बात कही थी। 

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने पूछा है कि क्या संवैधानिक पद पर बैठे शख्स को ऐसी बात कहनी चाहिए थी। इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी थी, कोर्ट ने तीन हफ्ते में यूपी सरकार से जवाब मांगा है।

बता दें कि बुलंदशहर गैंगरेप विक्टिम ने आजम के बयान और अपनी अन्य मांगों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। पीड़ित ने अपील की है कि केस की जांच और सुनवाई को दिल्ली स्थांतरित कर दिया जाए। पीड़िता ने यह भी मांग की थी कि जांच अदालत की निगरानी में कराई जाए। 

पीड़िता ने अपना दाखिला दिल्ली के स्कूल में कराने और सुरक्षा दिए जाने की भी अपील की है। इसके अलावा उसने अपने परिवार का पुनर्वास कराए जाने की भी बात कोर्ट के सामने रखी है।

पीड़ित ने अदालत से आजम खान और दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज कराने की भी मांग रखी है। आजम खान ने एक विवादास्पद बयान देते हुए इस गैंगरेप को विपक्ष की साजिश बताया था। 

उन्होंने कहा था, 'हमलोगों को इसकी जांच करने की जरूरत है कि कहीं सरकार को बदनाम करने के लिए यह विपक्ष की साजिश तो नहीं है। वोट के लिए लोग किसी भी स्तर पर जा सकते हैं।'