अयोध्या राम मंदिर मामले में आज सुनवाई, सुप्रीम कोर्ट ने दिया था बातचीत से हल का सुझाव


नई दिल्ली(31 मार्च): अयोध्या राम मंदिर मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई होनी है। बीजेपी नेता और इस मामले में याचिकाकर्ता सुब्रह्मण्यम स्वामी आज कोर्ट को बताएंगे कि दोनों पक्ष आपसी सहमति से मुद्दे सुलझाने को तैयार हैं या नहीं? पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों से कहा था कि अगर इस मामले को बातचीत से सुलझाया जाए तो बेहतर होगा। सिर्फ इतना ही नहीं मामले की सुनवाई करते हुए चीफ़ जस्टिस ने कहा था कि अगर दोनों पक्षों को लगता है तो वो ख़ुद मध्यस्थता कराने के लिए तैयार हैं और अगर बातचीत से हल नहीं निकलता है तो फिर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को तैयार है।


- बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कोर्ट  से अपील की थी कि इस मामले की जल्द से जल्द सुनवाई की जाये। जिसके जबाव में कोर्ट ने स्वामी सभी पक्षों से बात कर उनकी राय रखन के लिए 31 मार्च तक का वक्त दिया था।


- इस बीच दो पक्षकारों ने मामले में सुब्रमण्यम स्वामी के दखल के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट को चिट्ठी लिखी है। मुख्य पक्षकार हासिम अंसारी के बेटे इक़बाल अंसारी और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार को चिट्ठी लिखकर स्वामी के दखल को रोकने की मांग की है।