सुप्रीम कोर्ट ने रिटायर्ड जज डीके जैन को BCCI का लोकपाल किया नियुक्त

Photo: Google

न्यूज 24, नई दिल्ली (20 फरवरी):  सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को रिटायर्ड जज डीके जैन को बीसीसीआई का नया लोकपाल नियुक्‍त कर दिया है। जैन सुप्रीत कोर्ट के पूर्व जज हैं। नए संविधान के तहत जैन बीसीसीआई के पहले लोकपाल हैं और जल्‍द ही अपनी जिम्‍मेदारी संभालेंगे। बतौर लोकपाल जैन की पहली जिम्‍मेदारी केएल राहुल और हार्दिक पांड्या की जोड़ी की सजा का निर्णय पारित करना होगा।

इस जोड़ी को पहले एक टीवी शो पर महिलाओं के विरुद्ध बयान देने के बाद निलंबित कर दिया गया था, जिसके बाद प्रतिबंध को लोकपाल की नियुक्ति के लिए लंबित कर दिया गया था। वहीं सुप्रीत कोर्ट में सार्वजनिक रूप से मतभेदों को हवा न देने के लिए डायना एडुल्‍जी और विनोद राय सदस्‍य वाली सीओए को भी सुप्रीत कोर्ट ने चेतवानी दी है।

शीर्ष अदालत की न्यायाधीश एस.ए. बोब्डे और न्यायाधीश अभय मनोहर सापरे की बैंच ने छह वकीलों के सहमत हो जाने के बाद जैन को लोकपाल नियुक्त किया है। इन छह वकीलों के नाम का सुझाव पी.एस. नरसिम्हा ने दिए थे। सर्वोच्च न्यायालय नरसिम्हा से सलाह करने के बाद प्रशासकों की समिति (सीओए) के तीसरे सदस्य के नाम का ऐलान भी कर सकती है। तीसरे सदस्य का नाम गुरुवार को तय किया जा सकता है।

क्या होतें हैं लोकपाल के अधिकार

बोर्ड में नियुक्त लोकपाल के दायरे में आंतरिक विवादों का निपटारा, बोर्ड, उसके मेंबर और एसोसिएट मेंबर्स के बीच विवाद को सुलझाना, प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा नियमों के उल्लंघन, खिलाड़ियों, टीम अधिकारियों की शिकायतों को देखना, टिकट वितरण में किसी तरह की धांधली आदि मामलों का निपटारा जैसे अहम मुद्दे रहेंगे।