सुप्रीम कोर्ट ने SEBI को दी सहारा की संपत्ति बेचने की अनुमति

नई दिल्ली (29 मार्च): सुप्रीम कोर्ट ने सहारा ग्रुप को एक बड़ा झटका दिया है। कोर्ट ने बाजार नियामक सिक्योरिटीज़ एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) को सहारा की उन संपत्तियों को बेचने की अनुमति दे दी, जिनपर कोई विवाद ना हो। 

गौरतलब है कि सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय निवेशकों के साथ धोखाधड़ी के आरोप में पिछले दो साल से जेल में हैं। तभी से उन पर लगातार कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है। कोर्ट ने उन्हें निवेशकों का पैसा वापस लौटाने को कहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सेबी को यह अनुमति दी है। बताया जा रहा है कि संपत्तियों की बिक्री से मिलने वाली राशि का उपयोग उन आम निवेशकों की राशि लौटाने में किया जाएगा, जो सहारा की दो कंपनियों ने लोगों से वैकल्पिक रूप से पूर्ण परिवर्तनीय डिबेंचरों के जरिए जुटाई थी।

चीफ जस्टिस टी.एस. ठाकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि नियामक सहारा की संपत्तियों को बेचने की प्रक्रिया के लिए एक एजेंसी नियुक्त करेगा। कोर्ट ने यह भी कहा कि संपत्तियों की बिक्री संबंधित सर्किल दर के 90 फीसदी से कम कीमत पर नहीं बेची जा सकेगी। इन संपत्तियों की कुल कीमत 40 हजार करोड़ आंकी जा रही है। संपत्तियों को बेचने की पूरी प्रक्रिया सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति बी.एन. अग्रवाल की देख रेख में पूरी की जाएगी।