'चारबाग' स्टेशन पर चूहों का आतंक, मारने के लिए रेलवे ने दी 4.76 लाख की सुपारी

नई दिल्ली (19 अगस्त): लखनऊ में चारबाग स्टेशन पर चूहों के आतंक से भारतीय रेलवे के हाथ-पैर फूले हुए है। अब रेलवे इन्हें खत्म करने के लिए सख्त कदम उठा रही है। इन चूहों को मारने के लिए के लिए अब हर महीने 35,000 रुपए से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। एक प्राइवेट कंपनी को इस काम के लिए 4.76 लाख रुपए का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है। बड़े-बड़े शरीर वाले इन विशालकाय चूहों ने प्लेटफॉर्म्स के नीचे अपने बिल बना रखे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, इन चूहों ने रेलवे की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने के साथ-साथ सरकारी फाइलों और यात्रियों के सामान को भी बहुत नुकसान पहुंचाया है। ये तीन सालों में दूसरी बार है जब कंपनी को इस काम के लिए हायर किया गया है। 2013 में पहली बार ये काम कंपनी को सौंपा गया था। जिसे उस समय पूरा नहीं किया जा सका।

एक अधिकारी ने बताया, "चूहों के आतंक की वजह से प्लेटफॉर्म्स और दफ्तर की इमारत को बड़ा नुकसान हुआ है। इनके साथ ही पिछले एक साल में वेंडर्स को करीब 10 लाख रुपए का नुकसान हुआ। इनकी वजह से वे तो डरते ही हैं, इसके अलावा पैसेंजर्स भी खौफ में रहते हैं।"