योगी के विरोध पर निकाले गए सुनील सिंह ने खुद को घोषित किया हिंदू युवा वाहिनी का अध्यक्ष

नई दिल्ली(14 मई): उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के करीबी ने बगावत कर दी है। सीएम योगी के सबसे करीबी माने जाने वाले सुनील सिंह ने बगावत करते हुए एक दूसरा गुट बना लिया है। सुनील सिंह द्धारा बनाए गए दूसरे गुट का नाम भी हिन्दू युवा वाहिनी है। सुनील इसके इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष बने हैं।आपको बता दें सुनील सिंह को पिछले साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले हिंदू युवा वाहिनी से निकाल दिया गया था। सुनील सिंह ने रविवार को वीवीआईपी गेस्ट हाउस में बैठक कर खुद को संगठन का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर दिया। दूसरी ओर बिना अनुमति बैठक की गाज गेस्ट हाउस के व्यवस्थाधिकारी आरपी सिंह पर गिरी है। उन्हें राज्य संपत्ति अधिकारी ने निलंबित कर दिया है।बता दें हिंदू युवा वाहिनी के संरक्षक यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। विधानसभा चुनाव के ठीक पहले तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह और योगी की चुनाव लड़ने को लेकर ठन गई थी। सुनील सिंह ने योगी के मना करने के बाद भी युवा वाहिनी के उम्मीदवार घोषित कर दिए थे। इसके बाद योगी के निर्देश पर सुनील सिंह को संगठन से बर्खास्त कर दिया गया था। रविवार को सुनील सिंह ने अपने समर्थकों के साथ वीवीआईपी गेस्ट हाउस में बैठक की। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश के सभी जिलों से आए कार्यकर्ताओं ने युवा वाहिनी को राष्ट्रीय स्वरूप प्रदान करने का फैसला लेते हुए उन्हें अध्यक्ष नियुक्त किया है। दूसरी ओर हिन्दू युवा वाहिनी के प्रदेश महामंत्री पीके मल्ल का कहना, 'जो संगठन से निष्कासित किया जा चुका है, उसके दावों का कोई अर्थ नहीं है। सुनील सिंह समाजवादी पार्टी के हाथों में खेल रहे हैं।'