सुकमा हमले पर बोले राजनाथ- जवानों की शहादत बेकार नहीं जाने देंगे


नई दिल्ली(25 अप्रैल): सुकमा हमले के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज रायपुर पहुंचे। वहां शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद उन्होंने कहा कि यह हमला सोची समझी हत्या है। नक्सलियों का इरादा कामयाब नहीं होने देंगे। विकास कार्यों से बौखलाकर नक्सलियों ने हमला किया है। सुकमा हमला विकास में सबसे बड़ी समस्या है।  नक्सली आदिवासियों, गरीबों के दुश्मन हैं।


- उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों की क्षमता पर कोई सवाल नहीं है। सीआरपीएफ के नेतृत्व पर भी कोई संदेह नहीं है। इस वक्त किसी पर दोष लगाना सही नहीं होगा। जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे। इसे हम चुनौती के रूप में ले रहे हैं। हमले के खिलाफ केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम करेगी और कार्रवाई की जाएगी। 8 मई को गृहमंत्रालय ने दिल्ली में बैठक बुलाई है।


- प्रेस कांफ्रेंस के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह सीएम डॉ. रमन सिंह के साथ रामकृष्ण केयर हास्पिटल में जाकर घायल जवानों की जानकारी ली।


- बताते चलें कि नक्‍सली हमले में 25 जवान शहीद हो गए थे। नक्‍सलियों ने यह हमला दक्षिणी बस्तर के बुर्कापाल-चिंतनगुफा इलाके में दोपहर करीब साढ़े बारह बजे किया था यह इलाका राज्य के सबसे ज्यादा माओवादी प्रभावित इलाकों में एक है।


-  ख़बरों के मुताबिक, इस हमले में सीआरपीएफ के छह जवानों की स्थिति बेहद नाजुक बनी हुई है। ये सभी जवान सीआरपीएफ के 74वीं बटालियन के थे जिन्हें माओवादी विरोधी अभियान के लिए लगाया गया था। इस घटना के बारे में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री को पूरी जानकारी दी।