भारत सुखोई-30 लडा़कू विमान से दागेगा ब्रह्मोस मिसाईल

नई दिल्ली ( 23 फरवरी ): सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाईल को सुखोई-30 एमकेआई युद्धक विमान से प्रक्षेपित करने का परीक्षण अप्रैल में महीने होगा। सुखोई-30 युद्धक विमान से ब्रह्मोस दागने के कुछ परीक्षण किए जा चुके हैं। यह हवा से समुद्र और जमीन पर मार कर सकती है।

सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाईल की फायरिंग सुखोई-30 युद्धक विमान से अब अप्रैल में निर्धारित की गई है। इस मिसाईल के जरिए भारत अपने दुश्मन को 300 किमी तक टारगेट कर सकता है।

सुखोई तथा ब्रह्मोस शक्तिशाली प्लेटफार्म है। इस श्रेणी की एयरफोर्स वर्जन की मिसाइल भारत के अलावा किसी देश के पास नहीं है।