त्योहारों के मौसम में देश को दहला सकते हैं आतंकी

नई दिल्ली(28 सितंबर): हिंदुस्तान के फेस्टीवल सीजन पर फिदायीन खतरा मण्डरा रहा है। खतरा इस मायने में बड़ा माना जा रहा हैं कि आतंकी ब्रिगेड को हिंदी भाषा पर कमाण्ड के साथ आम लोगों में घुलने मिलने के टिप्स पढ़ाऐ गए है।

जैश ऐ मोहम्मद के फिदायीन हमलावरों के पास टारगेटेड प्लान तो हैं ही, उन्हें जांच एजेंसियों के रेडार पर आने से बचाने के लिए लश्कर ए तैयबा एक्सपर्ट को दस्ते का हिस्सा बनाया गया है। पिन पाइंट रोड़ मेप को फॉलो करने के लिए हरकत अल अंसार के रैकी मास्टर को गाइड की जिम्मेदारी दी गई है। वेष बदलने में माहिर इस फिदायीन दस्ते के  निशाने पर धर्मस्थल,मॉल,सेना की कमांडिंग विंग है।

जांच एजेंसियों के हाथ लगे तथ्यों के मुताबिक फिदायीन ब्रिगेड को नेपाल,सिलीगुड़ी,पंजाब,गुजरात के रास्ते सरहद पार कराया जा सकता है। अलर्ट के बाद खुफिया जांच एजेंसियों ने तकनीकी सर्विलेंस का दायरा बढ़ा दिया है।