'शतरंज इस्लाम में वर्जित, दुश्मनी को बढ़ावा देता है यह खेल'

नई दिल्ली (22 जनवरी): सऊदी अरब के एक बड़े इमाम अब्दुल अज़ीज़-अल-शेख ने शतरंज को शरिया के खिलाफ और इस्लाम में वर्जित खेल दिया है। इमाम अब्दुल अज़ीज़ के इस बयान की सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त देखने को मिल रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब्दुल अज़ीज़ ने शतरंज के बारे में कहा है कि इसको खेलने वालों में दुश्मनी की भावना बढ़ती है और समय की बर्बादी भी होती है।

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने उनके इस बयान की मजाक भी बनाया है। बहरहाल 44 सेकेंड्स के विडियो में इमाम अब्दुल अज़ीज़ को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि 'शतरंज खेलने से समय और पैसे दोनों की बर्बादी होती है। यह दुश्मनी और प्रतिद्वंदिता को बढावा देता। शतरंज खेलने वाले अमीर, गरीब हो जाते हैं और गरीब अमीर बन जाते हैं।' शतरंज की तरह चौरस और ताश खेलना मध्य एशियाई लोगों में काफी लोकप्रिय खेल हैं। चूंकि सऊदी अरब के किसी भी इमाम ने अभी तक कोई शतरंज के खिलाफ कोई अधिकारिक फतवा जारी नहीं किया है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगने की संभावना कम है।