बीजेपी के इन नेताओं ने फिर साधा आमिर पर निशाना

नई दिल्‍ली (16 जनवरी): पिछले दिनों असहिष्णुता को लेकर खूब चर्चा हुई। खासकर बिहार चुनाव के दौरान कई लोग टॉलरेंस और इनटॉलरेंस शब्द से वाकिफ हुए। असहिष्णुता पर जारी इस बहस ने तब नया मोड़ ले लिया था जब मशहूर फिल्म अभिनेता आमिर खान ने इस पर टिप्पणी की थी। हालांकि वक्त गुजरने के साथ ये मामला ठंडे बस्ते में चला गया। खबरों से असहिष्णुता शब्द कमोबेश गायब हो गया था, लेकिन अचानक से बीजेपी के कुछ नेताओं ने फिर इसे चर्चा के केन्द्र में ला दिया। राम माधव से लेकर कैलाश विजयवर्गीय और आज सुब्रमण्यम स्वामी ने जिस तरह का बयान आमिर खाने से मुत्तलिक दिया है।

सुब्रामण्यम स्वामी बीजेपी के निशाने पर फिर से आमिर खान हैं। पार्टी के तीन बड़े नेताओं ने आमिर को फिर से आड़े हाथों लिया। बीजेपी के कद्दावर नेता सुब्रामण्यम स्वामी ने आमिर खान पर फिल्म पीके को हिट कराने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से हाथ मिलाने का आरोप लगाया।

राम माधव इससे पहले दिल्ली के खालासा कॉलेज में एक स्पीच के दौरान पार्टी के महासचिव राम माधव ने आंमिर को नसीहत दी कि देश के गौरव के बारे में एक ऑटो वाले को समझाने की बजाए आमिर को अपनी पत्नी को समझाना चाहिए। आमिर ने अतुल्य भारत के एक विज्ञापन में ऑटो वाले को भारत के गौरवशाली इतिहास के बारे में समझाते नजर आए थे।

कैलाश विजयवर्गीय उधर बीजेपी के एक और महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी आमिर फिल्मों के बहाने हमला किया किया। विजयवर्गीय ने शाहरुख और आमिर पर निशाना साधा और कहा अभी एक का इलाज हुआ है, दूसरा अभी बाकी है। आप लोगों को दंगल में मंगल करना है ध्यान रखना।

आमिर की मूवी ‘दंगल’ इसी साल दिसंबर में रिलीज होनी है। वहीं एक को सबक सिखाने का इशारा शाहरुख की दिलवाले फिल्म थी जो बॉक्स ऑफिस पर उम्मीदों के मुताबिक कमाई नहीं कर पाई।