स्वामी बोले- अगर मुझे फाइनेंस मिनिस्टर बनाते तो मैं जेटली से बेहतर होता

नई दिल्ली(18 सितंबर): विवादों में रहने के लिए मशहूर भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी फिर एक बयान चर्चा में है। उन्होंने कहा, ‘अगर मुझे फाइनेंस मिनिस्टर बनाया गया होता तो वे अरुण जेटली से बेहतर साबित होते। जेटली सिर्फ एक वकील हैं जबकि मैं एक इकोनॉमिस्ट हूं।' 

- स्वामी ने सवाल किया कि फाइनेंस मिनिस्टर के रूप में वह (जेटली) मुझसे बेहतर कैसे हो सकते हैं? स्वामी ने यह स्टेटमेंट शनिवार को एक टीवी प्रोग्राम में दी। 

- प्रोग्राम में दूसरे पैनलिस्ट और पार्लियामेंट मेंबर असदुद्दीन ओवैसी ने महंगाई को लेकर एक सवाल किया, जिसके जवाब में स्वामी ने ये कॉन्ट्रोवर्शियल स्टेटमेंट दिया।

- बता दें कि कुछ महीने पहले जेटली और स्वामी के बीच का उस वक्त विवाद खुलकर सामने आया था, जब चीफ इकॉनोमिक एडवाइजर अरविंद सुब्रमण्यन और इकोनॉमिक मामलों के सेक्रेटरी शशिकांत दास को लेकर दोनों नेताओं के बीच जमकर जुबानी जंग हुई थी।

- स्वामी ने अरविंद सुब्रमण्यम पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था, ‘अमेरिकी कांग्रेस से 13 मार्च 2013 को किसने कहा था कि अमेरिकी फार्मा इंडस्ट्री के हितों की रक्षा के लिए भारत के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। अरविंद सरकार के खिलाफ काम कर रहे हैं लिहाजा उन्हें तुरंत हटा दिया जाना चाहिए।’ इस मामले में जेटली ने ट्वीट कर अरविंद सुब्रमण्यम का बचाव किया था।

जेटली को लेकर इंटरव्यू में और क्या बोले स्वामी ?

- टीवी प्रोग्राम में जब स्वामी से पूछा गया कि आपके और जेटली के बीच हमेशा भारत-पाकिस्तान जैसा तनाव क्यों रहता है? 

- जवाब में स्वामी ने कहा, ‘उत्तर और दक्षिण भारत के ब्राह्मणों के बीच हमेशा संघर्ष या खींचतान रहती है।’ 

- बता दें कि स्वामी तमिलनाडु से हैं और फाइनेंस मिनिस्टर जेटली दिल्ली के हैं जो पंजाब से ताल्लुक रखते हैं। 

- यह पूछने पर कि क्या बीजेपी ने उनके बोलने पर रोक लगाई है तो स्वामी ने जेटली पर चुटकी लेते हुए कहा, ‘मेरे ऊपर कोई रोक नहीं लगी है। आपकी समस्या यह है कि आप जेटली से काफी बातें करते हैं।’ 

- यह पूछने पर कि क्या होम मिनिस्टर के रूप में वह राजनाथ सिंह से बेहतर रहेंगे तो स्वामी ने कहा, ‘राजनाथ मेरे दोस्त हैं। सरदार पटेल के बाद वह सबसे अच्छे होम मिनिस्टर हैं।’