हेराल्ड केस में सुब्रमण्यम स्वामी ने हुड्डा को गवाह बनाने की याचिका ली वापस

नई दिल्ली (15 मई): बीजेपी नेता सुब्रहमण्यम स्वामी ने नेशनल हेराल्ड केस में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को गवाह बनाने की अपनी मांग वापस ले ली है। इससे पहले स्वामी ने हरियाणा स्थित पंचकूला भूमि आवंटन के मामले में भूपेंद्र सिंह हुड्डा को गवाह बनाने की मांग की थी। स्वामी ने कोर्ट में कहा कि इस केस का उस मामले से कोई संबंध नहीं है जिसका CBI जांच कर रहा है। कोर्ट ने स्वामी की याचिका को स्वीकार करते हुए मामले की एक सुनवाई 1 जुलाई तक के लिए टाल दिया है।


दरअसल सुब्रहमण्यम स्वामी का आरोप है कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नियमों की अनदेखी कर असोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड को 2005 में जमीन दिया। आपको बता दें कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर CBI पहले ही पंचकूला में असोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) नेशनल हेराल्ड मामले में केस दर्ज कर चुकी है। इसके मुताबिक AJL को 1982 में प्लॉट अलॉट किया गया और 1992 तक इसमें कोई कंस्ट्रक्शन नहीं हुआ। आरोप है कि बाद में भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने बाद साल 2005 में दोबारा AJL को ये प्लाट अलॉट कर दिया। उस समय भूपेंद्र सिंह हुड्डा ही प्राधिकरण के अध्यक्ष थे।


गौरतलब है कि AJL वही कंपनी है जो नेशनल्ड हेरल्ड अखबार चलाती थी और इससे जुड़ा एक केस सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में चल रहा है।