भारत की ताकत बढ़ाएगी INS कलावरी, नौसेना में आज होगी शामिल

नई दिल्ली (14 दिसंबर): भारत की समुद्री सीमा में चीन और पाकिस्तान की घुसपैठ को जवाब देने के लिए भारतीय नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस कलवरी गुरुवार को समुद्र में उतरेगा। 1,564 टन के इस सबमरीन प्रॉजेक्ट-75 के अंतर्गत बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके उद्घाटन के लिए गुरुवार को सुबह 11 बजे मुंबई पहुंचेंगे। उनके साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतरमण भी मौजूद होंगी। 17 साल के इंतजार के बाद हिन्दुस्तान को समंदर में INS कलावरी के रुप में सबसे बड़ी ताकत मिलने जा रही है।

आईएनएस कलवरी को नौसेना में ऐसे समय में शामिल किया जा रहा है, जब कुछ दिनों पूर्व नौसेना ने अपनी स्वर्ण जयंती मनाई थी।  इतना ही नहीं, पोत निर्माता 'मझगांव डॉक लिमिटेड' द्वारा भारतीय नौसेना को सौंपी गयी स्कोर्पीन श्रेणी की छह पनडुब्बियों में से एक है कलवरी।

इस पनडुब्बी से पानी के अंदर और इसकी सतह दोनों जगहों पर लड़ाई को अंजाम दिया जा सकता है।  दूसरी स्कार्पीन पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी वर्तमान में परीक्षण प्रक्रिया से गुजर रही है और जल्द ही इसे नौसेना में शामिल किए जाने की संभावना है।