पार्टी करने के नशे में युवक को किया किडनैप, फेसबुक पर फोटो पोस्ट कर फंसे

नई दिल्ली (7 मई): कॉलेज स्टूडेंट्स पर पार्टी करने का नशा इस कदर चढ़ा कि पैसे के जुगाड़ के लिए उन्होंने एक बिजनेसमैन के 21 साल के बेटे अर्जुन को अगवा कर लिया। रोचक बात यह है कि उन्होंने अगवा करने के बाद फेसबुक पर फोटो भी पोस्ट कर दिया।

योगेश कुमार (लॉ स्टूडेंट) ने अपने ग्रेजुएशन में पढ़ने वाले दोस्त शशांक सिंह और अनुज के साथ मिलकर पांच लाख रुपए फिरौती के रूप में वसूले थे। उन्हें इस पैसे से आईफोन 6 और एक जोरदार पार्टी करनी थी। जब तक पुलिस उन तक पहुंचती उन्होंने इस पैसे का कुछ हिस्सा खर्च दिया था।

एक मई को तीनो दोस्तों ने पार्टी प्लान की जिसके लिए उनके पास पैसे की कमी पड़ रही थी। वे अपनी स्विफ्ट कार में आनंद विहार के पास घूमने लगे। वहीं पर उनकी नजर अर्जुन पर पड़ी। जब उन्होंने देखा कि वह अमीर लग रहा है तो उन्होंने उसे बंदूक की नोक पर अगवा कर लिया। डरा हुआ अर्जुन पुलिस को फोन नहीं किया बल्कि अपने पिता को फोन कर कहा कि वो किडनैप हो गया है और किडनैपर्स ने 20 लाख रुपए की डिमांड की है। 

इसके बाद किडनैपर्स ने अर्जुन के पिता से बात की और कहा कि आपके पास पैसे पहुंचाने के लिए केवल चार घंटे हैं। इसी बीच अर्जुन के पिता ने किडनैपर्स ने मोलभाव करके रकम को 20 लाख से 5 लाख करवा लिया और बताए गए जगह पर ले जाकर दे दिया।

अर्जुन के छूट जाने के बाद उसके परिवार ने पुलिस में रिपोर्ट किया। इसके बाद पूर्वी दिल्ली के डीसीपी ऋषि पाल ने कहा कि इंस्पेक्टर के जी त्यागी के नेतृत्व में गठित स्पेशल टास्क फोर्स की टीम को अर्जुन ने बताया कि वो उस स्कूटर को पहचानता है जिस पर वे लोग फिरौती मांगने आए थे। अर्जुन को स्कूटर के नंबर प्लेट पर छपे नंबर के तीन अंक याद थे। उसने पुलिस को बताया कि नंबर स्टाइल में लिखे हुए थे।

पुलिस ने अर्जुन से मिली जानकारी के आधार पर स्कूटर के ओनर को खोज निकाला। लेकिन ओनर ने कहा कि वो किसी भी किडनैपिंग के बारे में नहीं जानता है। लेकिन उसने कहा कि उसका स्कूटर पड़ोसी लेकर गए थे। लेकिन जब पुलिस पड़ोसी के घर पहुंची तो वहां कोई नहीं था।

इसके बाद अर्जुन ने पुलिस ऑफिसर के साथ मिलकर पड़ोसियों का सोशल मीडिया अकाउंट खंघालना शुरू किया। इसी बीच अर्जुन ने टैग हुई फोटो में एक किडनैपर योगेश को पहचान लिया। पुलिस जब उसके हॉस्टल पहुंची तो उसने एग्जाम का बहाना बना कर मिलने से इनकार कर दिया। इसके बाद पूछताछ के दौरान योगेश ने जुर्म कबूल लिया और पूरी कहानी पुलिस को बताई। 

पुलिस ने बताया कि तीनों के खिलाफ किडनैपिंग का केस दर्ज कर लिया गया है और फरार आरोपियों की तलाश जारी है।