सेंट्रल यूनिवर्सिटी में ऊंची कट ऑफ लिस्ट से छात्रों को मिलेगी राहत

नई दिल्ली (8 सितंबर): सेंट्रल यूनिवर्सिटी में ऊंची कट ऑफ लिस्ट से छात्रों को कुछ हद तक राहत मिल सकत है। सूत्रों ने बताया कि मानव संसाध‍न विकास मंत्रालय केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कट ऑफ की बजाय कॉमन एंट्रेस टेस्ट के जरिए एडमिशन देने पर की योजना है।

एचआरडी मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने बताया एडमिशन के इए नए सिस्टम का फॉर्मेट तैयार करने के लिए जल्द ही विशेषज्ञों की टीम काम करना शुरू कर देगी। नई व्यवस्था के बाद 99 फीसदी और 80 फीसदी मार्क्स हासिल करने वाले छात्र एक ही प्लेटफॉर्म पर होंगे और उन्हें एडमिशन के लिए एक साथ एंट्रेस टेस्ट देने का मौका मिलेगा।

100 फीसदी तक जाती है DU की कट ऑफ... केंद्र सरकार कट ऑफ को लेकर कॉलेजों की मनमानी खत्म करना चाहती है। अगर इस बार को छोड़ दें तो पिछले तीन सालों से दिल्ली यूनिवर्सिटी की कट ऑफ 100 फीसदी का आंकड़ा छू रही थी। हालांकि इस साल एक कोर्स को छोड़कर सभी कोर्सेज और कॉलेजों में पहली कट ऑफ 98.75 फीसदी तक गई थी।