महिला डॉक्टर के साथ मारपीट, हड़ताल पर सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर

नई दिल्ली(24 अगस्त): महिला डॉक्टर के साथ मारपीट के बाद डॉक्टरों ने सफदरजंग अस्पताल में हड़ताल कर दी है। रेजिडेंट्स डॉक्टरों की हड़ताल का असर इलाज पर हुआ। देर रात तक उनकी हड़ताल जारी थी। स्ट्राइक की वजह से गुरुवार को मरीजों की परेशानी और बढ़ सकती है, इसका असर ओपीडी पर भी हो सकता है।

- सफदरजंग अस्पताल की गायनी विभाग की पीजी सेकंड ईयर की डॉक्टर रुचि ने बताया कि वह गुरुवार की दोपहर ओपीडी में मरीजों का इलाज कर रही थीं। आरोप है कि उसी समय एक महिला मरीज ने उनके साथ बिना वजह हाथापाई की। इस घटना के बाद आरोपी मरीज वहां से भाग गईं, लेकिन डॉक्टरों ने काम बंद कर दिया। डॉक्टरों ने पहले अपनी शिकायत अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉक्टर ए. के. राय को दी।

- डॉक्टर राय ने बताया कि उन्होंने इस मामले में पुलिस से शिकायत की है। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है। डॉक्टर राय ने बताया कि पुलिस इस मामले में जांच कर रही है, लेकिन इसके बाद भी डॉक्टर काम पर नहीं लौटे हैं। उन्होंने कहा कि स्ट्राइक जारी है और सभी डिपार्टमेंट के डॉक्टर इसमें शामिल हैं।

- उधर डॉक्टरों का कहना है कि यह कोई पहली घटना नहीं है। बार-बार ऐसी घटनाएं होती हैं। हर बार बेहतर सिक्यॉरिटी की बात कही जाती है, लेकिन फिर वैसी ही स्थिति बन जाती है। डॉक्टरों ने कहा, 'हम यहां इलाज करने के लिए आए हैं। अगर हम डर-डर के काम करेंगे तो मरीज का इलाज कैसे करेंगे। हमारा काम इलाज करना है न कि मारपीट करना।' 

- डॉक्टरों का कहना है कि अस्पताल प्रशासन का काम है कि बेहतर सिक्यॉरिटी दे ताकि निडर होकर काम किया जा सके। डॉक्टरों ने कहा कि वे हड़ताल नहीं करना चाहते हैं। हर बार आश्वासन दिया जाता है, लेकिन सिक्यॉरिटी बेहतर नहीं की जाती।