BREAKING NEWS: बढ़े युद्ध के हालात, पाक सेना ने शकरगढ़ बल्ज की तरफ किया कूच

नई दिल्ली (30 सितंबर): रक्षा सूत्रों के मुताबिक पीओके में आतंकवादी ठिकानों पर भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपनी स्ट्राइक कोर को शकरगढ़ बल्ज की तरफ मूव कर दिया है। सैटेलाईट इमेजरी और इंटेलीजेस के जरिए हिंदुस्तान को पाकिस्तान की तरफ से होने वाली इस नापाक हरकत की जानकारी मिली है।

पाकिस्तान आर्मी की दस कोर में से एक 1 स्ट्राइक कोर का हैडक्वार्टर पीओके के मंगला में है। अब सवाल उठता है कि आखिर क्यों पाकिस्तान अपनी स्ट्राइक कोर को शकरगढ़ बल्ज की तरफ भेज रहा है। क्या पाकिस्तान हिंदुस्तान को ड़राने की कोशिश कर रहा है? शकरगढ़ बल्ज बार्डर का पाकिस्तान की तरफ से हिंदुस्तान में इंडस रिवर बेल्ट का वो सामरिक महत्व का उभरा हुआ हिस्सा है, जहां से पाकिस्तान हिंदुस्तान पर हमला कर सकता है। पाकिस्तान हमला कर जम्मू–पंजाब रोड़ लिंक को काट सकता है।

सूत्रों की माने तो पाकिस्तान ने पूरी कोशिश की है कि ये पाकिस्तान आर्मी की स्ट्राइक कोर का मूवमेंट गुप्त हो, लेकिन हिंदुस्तान की सैटेलाईट्स ने पाकिस्तान के इस मिलिट्री मूवमेंट को पकड़ लिया है। दरअसल पाकिस्तान की स्ट्राइक कोर की 6 आर्मर्ड डिवीजन खारिया में जहां तक पहुंचने के लिए एलेक्जेंड्रा ब्रिज क्रॉस करना पड़ाता है। और यही ब्रिज क्रॉस करते हुए खुफिया एजेंसियों को पाकिस्तानी सेना के मूवमेंट का पता चला।

सूत्रों का कहना है कि हिंदुस्तान की सेना पाकिस्तान की तरफ से होने वाली हर हरकत पर नजर बनाए हुए है औऱ उसे मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। शकरगढ़ बल्ज में भारतीय सेना की तीन आर्मर्ड ब्रिगेड हैं जो पाकिस्तान की किसी भारत पर हमले की किसी भी कोशिश का मुंहतोड़ जवाब दे सकती हैं।

शकरगढ़ का क्या है सामरिक महत्व... - PoK में भारतीय सेना के सर्जिकल ऑपरेशन के बाद पाकिस्तान पूरी तरह बौखला गया है।  - पाक सेना ने अपनी एक स्ट्राईक कोर शकरगढ़ की तरफ मूव कर दी है।  - सैटेलाइट तस्वीरों और इंटेलिजेंस एजेंसियों के जरिए मिली जानकारी से यह खुलासा हुआ है। - शकरगढ़ पाकिस्तान के नरोवाल जिले की तहसील है।  - 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत ने पाकिस्तान को यहां धूल चटा दी थी।  - पाकिस्तान के 50 पेटन टैंकों को भारतीय सेना ने बर्बाद कर दिया था। - जिसके कारण पाकिस्तानी सेना को पीछे हटना पड़ा था।  - शकरगढ़ भारत पाक सीमा पर रावी नदी के किनारे बसा हुआ है पठानकोट जम्मू लिंक रोड से महज 45 किमी दूर है।  - अगर पाकिस्तान भारत पर हमला करता है। तो पाकिस्तान की कोशिश रहेगी कि जम्मू पंजाब लिंक रोड को काटा जाए।  - लेकिन शकरगढ़ सीमा पर भारतीय सेना पूरी तरह चाक-चौबंद है और पाकिस्तान की किसी भी हरकत का मुंह तोड़ जवाब देने के लिए तैयार है।