भ्रामक विज्ञापन के लिए होगी सख्त सजा, सेलेब्रेटी भी नहीं बचेंगे

नई दिल्ली ( 21 मार्च ):  उपभोक्ता मामलों के केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने नए कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल का लोकसभा में एलान किया है। इस बिल के तहत भ्रामक विज्ञापन करने वाले सेलेब्रिटीज को कड़ी सजा मिलेगी। साथ ही खाने के सामान से फूड पॉयजनिंग होने पर भारी जुर्माना भी देना पड़ेगा।


उपभोक्ताओं के अधिकारों को मजबूत बनाने तथा भ्रामक विज्ञापन देने वाले सेलेब्रेटी, निर्माता और प्रकाशकों को सजा देने के प्रावधान वाला एक नया विधेयक ( कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल) संसद में लाया जाएगा। उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं जनवितरण मंत्री रामविलास पासवान ने मंगलवार को लोकसभा में सवालों के जवाब में भ्रामक एवं गुमराह करने वाले विज्ञापनों को गंभीर मुद्दा बताते हुए कहा, ‘‘इन शिकायतों का निवारण उपभोक्ता अदालतें करती हैं। हमारे पास सीधे कार्रवाई का अधिकार नहीं है।’’


पासवान ने बताया कि इसके लिए 2015 में एक संशोधन विधेयक लाया गया था। इसे स्थाई समिति के पास भेजा गया। समिति ने इसमें 80 संशोधन सुझाए हैं। समिति के सुझावों को शामिल करते हुए एक नया विधेयक तैयार किया गया है और उसे कैबिनेट में भी वितरित कर दिया गया है। इसमें सेलेब्रेटी, निर्माता और प्रकाशकों को सजा देने का प्रावधान है।


उन्होंने बताया कि उपभोक्ता सामान खरीदने के दौरान, बीच में और बाद में भी शिकायत कर सकेंगे। पासवान ने बताया कि समिति ने अपनी सिफारिश में मिलावटी सामानों के विज्ञापन में शामिल सेलेब्रेटी को पहली बार दो साल और दूसरी बार पांच साल के लिए जेल भेजने की सिफारिश की है।