दिल्ली से ट्रैन चली हुई आंखें चार, गाजियाबाद में प्यार और अलीगढ़ में...

नई दिल्ली (15 अप्रैल): दिल्ली से ट्रेन चली आमने सामने बर्थ पर बैठे लड़के-लड़की की आंखे चार हुईं। गाजियाबाद पहुंचते-पहुंचते प्यार हो गया, कुछ और आगे ट्रेम बढ़ी तो दोनों ने साथ-साथ जीने-मरने की सौगंध खायी और अलीगढ़ पहुंचते-पहुंचते शादी रचा ली। प्यार से शादी तक पहुंचने की इससे शॉर्ट स्टोरी आपने कहीं नहीं सुनी होगी...शायद इतनी शॉर्ट लव स्टोरी तो फिल्मों में भी  नहीं देखी होगी...लेकिन यह कोई फिल्मी स्टोरी नहीं बल्कि रियल स्टोरी है। दरअसल, दिल्ली से रवाना हुई एक ट्रेन में दो अनजान युवाओं में शुरू हुई प्यार की बातें अलीगढ पहुंचते-पहुंचते एक दूसरे को हमसफर बनाने तक पहुंच गईं।

ट्रेन में बैठे इन युवक-युवती में अलीगढ पहुंचते पहुंचते प्यार ऐसा परवान चढा कि दोनों ने ट्रेन में ही शादी कर ली। उनके इस पवित्र रिश्ते में लडके की मदद की एक महिला ने की जिसके पास सिंदूर था और एक यात्री ने दोनों की इस अनोखी शादी में पंडित की भूमिका निभाई। लडका उस समय थोड़ा डर गया जब इस शादी की खबर पूरी ट्रेन में फैल गयी और टुंडला स्टेशन पर मीडिया का जमघट लग गया। भीड़ देख दूल्हा सीट के नीचे दुबक गया, मगर लडक़ी ने उसे खींचकर उसका चेहरा मीडिया के सामने आगे कर दिया। दरअसल, फिल्मी स्टाइल की यह प्रेम कहानी पूर्वा एक्सप्रेस के एसी-3 कोच में हुई। दिल्ली से गाड़ी छूटने के बाद युवक युवती में पहले जान पहचान हुई और फिर प्यार... दोनों ने शादी करने के लिए इंतजार भी नहीं किया और तुरत-फुरत ट्रेन में ही ब्याह रचा डाला।