OMG! पेशे से हैं नाई, घूमते हैं Rolls Royce में...

नई दिल्ली (23 जुलाई): बेंगलुरु में रहने वाले रमेश बाबू एक ऐसे नाई है जो 3 करोड़ की रोल्स रॉयस कार में बैठकर अपने सैलून तक आते हैं। वे देश के अरबपतियों में से एक हैं। खास बात यह है कि उनके सैलून में बाल काटने के नार्मल चार्जेस ही लगते हैं। उनकी जिंदगी की कहानी कुछ ऐसी है, जिसमें उनके ख्वाब तो पूरा हुए ही, साथ ही वो अरबपति भी बन गए।

रमेश बाबू की जिंदगी की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है... - 1989 में रमेश बाबू के पिता का निधन हो गया। - सैलून ही उनके परिवार की आय का मुख्‍य जरिया था। - सैलून जलाते समय उन्होंने कार खरीदने का सपना देखा और एक मारूति ओमनी खरीदी। - मारुति ओमनी को खरीदने के बाद उन्होंने उसे किराए पर देना शुरू कर दिया। - कार से आने वाले पैसे और दुकान की बचत से उन्होंने दूसरी कारें खरीदना शुरू कर दिया। - इसके बाद रमेश बाबू के कारों का बिजनेस चल गया और उन्होंने एक के बाद एक 200 कारें खरीद ली। - आज रमेश बाबू के पास Rolls Royce से लेकर बीएमडब्लयू और मर्सिडिज जैसी कारें हैं। - रमेश बाबू इन कारों को किराए पर देते हैं, जिसके लिए रोजाना 1 हजार से लेकर 50 हजार प्रतिदिन का चार्ज लेते हैं। - रमेश बाबू की सबसे बड़ी खासियत है कि वह आज भी सैलून जाते हैं और लोगों के बाल कांटते हैं।