मिल गया 'नामर्दी' का इलाज, स्टेम सेल से बनेंगे स्पर्म

नई दिल्ली (17 जनवरी): आप इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकते कि त्वचा से स्पर्म तैयार हो और मां की गोद में बच्चे की किलकारी गूजेगी।, मगर ऐसा सच होने जा रहा है। चिकित्सा जगत में स्टेम सेल से कई बीमारियों का तोड़ खोजने के बाद अब बच्चे को जन्म दिए जाने की भी तैयारी है। जी हां, यह कारनामा अमेरिका के डॉ. स्कैटेन गैराल्ड ने किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डॉ. गैराल्ड स्कैटेन ने स्टेम सेल थेरेपी से स्त्री रोग से जुड़ी कई बीमारियों के उपचार का आविष्कार किया है। वो स्टेम सेल से स्पर्म तैयार कर बच्चे का जन्म कराने वाले शोध का खुलासा करने वाले हैं। डॉ गैराल्ड बताते हैं कि पुरुष में स्पर्म काउंट पूरी तरह खत्म होने और फर्टिलिटी भी खत्म हो जाने की स्थिति में खाल (त्वचा) से स्टेम सेल विकसित किए जाएंगे। इससे उसी व्यक्ति का स्पर्म तैयार किया जाएगा। इसके बाद उनकी महिला पार्टनर की ओवरी में आईवीएफ पद्धति से स्पर्म इंजेक्ट कर बच्चे का जन्म कराया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि बंदर व अन्य जानवरों पर शोध कर लिया गया है और उसके सफल परिणाम भी आये हैं।