सरकारी घरों में तय समय से ज्यादा रुके तो पड़ेगा मंहगा

नई दिल्ली (26 अगस्त): अफसरों और जनप्रतिनिधियों को सरकारी आवासों में तय सीमा से अधिक समय तक रहना अब बहुत महंगा पड़ेगा। प्रशासन संशोधित दरों को मंजूरी देने जा रहा है जिसके तहत एक सीमा के बाद सरकारी आवास में रहना न केवल 40 से 55 गुना अधिक महंगा पड़ेगा बल्कि हर महीने किराये की दर बढ़ती जाएगी। 

घर की श्रेणी के आधार पर उसमें अनाधिकृत रूप से रहने वाले व्यक्ति को 40 से 55 फीसदी अधिक किराया देना होगा। लेकिन तय समय अवधि के बाद दूसरे महीने से लेकर किराये की दरों में दस फीसदी, 20 फीसदी और हर महीने दस फीसदी की दर से वृद्धि होती चली जाएंगी। यह वृद्धि बाजार में किराये की दर के अतिरिक्त होगी। और जब तक घर खाली नहीं कर दिया जाता, किराया इसी दर से बढ़ता जाएगा।