तंत्र मंत्र के नाम पर तांत्रिक ने हड़पे 5.76 लाख रुपये और सोने गहने, पीड़ित परिवार अब पुलिस से लगा रहा है गुहार

राजस्थान के जालौर में अंधविश्वास के नाम पर ठगी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला जालौर जिले के भीनमाल शहर का है जहां एक दंपति तंत्र मंत्र के नाम पर एक तांत्रिक की ठगी से शिकार हो गए।

तंत्र मंत्र के नाम पर तांत्रिक ने हड़पे 5.76 लाख रुपये और सोने गहने, पीड़ित परिवार अब पुलिस से लगा रहा है गुहार
x

उत्तम गिरी, जालौर: राजस्थान के जालौर में अंधविश्वास के नाम पर ठगी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला जालौर जिले के भीनमाल शहर का है जहां एक दंपति तंत्र मंत्र के नाम पर एक तांत्रिक की ठगी से शिकार हो गए। जिसमें 5 लाख 76 हजार व सोने चांदी के गहने तांत्रिक ने हड़प लिए। दरअसल घटना जालौर जिले के भीनमाल में एक परिवार के साथ तंत्र मंत्र के नाम पर ठगी करने का मामला सामने आया है। यहां एक विवाहिता ने तांत्रिक से परेशान होकर थाने में न्यायालय के जरिए एक माह पहले मामला दर्ज करवाया है। अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर अब उसने परिवार सहित आत्मदाह की चेतावनी दी है। 


भीनमाल शहर निवासी पीड़िता चंद्रा देवी पत्नी अशोक कुमार ने न्यायालय के जरिए भीनमाल पुलिस थाने में एक तांत्रिक के विरुद्ध तांत्रिक विद्या के नाम पर धोखाधड़ी से नकदी व गहने हड़प करने का मामला दर्ज करवाया है। उसने बताया कि पिछले 12 वर्षों से उसके पुत्र नहीं होने के कारण 2 साल पूर्व सिरोही के सीदरथ निवासी मोतीलाल तांत्रिक भोपा व उसका पुत्र गोकुल व जगदीश के बारे में जानकारी मिली। वह अपने पति के साथ उनके घर पर बने मंदिर ग्राम सिद्रत गई। जहां भोपा व उसके बेटों के प्रभाव में आकर आरोपियों को तांत्रिक विधि के बदले 3 लाख 51 हजार की राशि 2021 में दी थी। 


इसके बाद तांत्रिक विधि के नाम पर 2 लाख 25 हजार रुपए और दिए। इसके बाद आरोपी को पुलिस कार्रवाई के बारे में बताया तो उसने आरटीजीएस के जरिए 2 लाख उसके पति के खाते में जमा करा दिए। लेकिन अन्य रुपए व गहने अब तक नहीं लौटा रहे हैं। पति-पत्नी थाने के चक्कर काटने को मजबूर है। इधर पीड़ित पति पत्नी ने पुलिस कार्रवाई नहीं होने से आत्मदाह की चेतावनी भी दी है।


न्यायालय के जरिए पीड़िता ने दी गई रिपोर्ट पर पुलिस थाने में दर्ज मामले के अनुसार पीड़िता ने बताया कि 12 वर्ष पूर्व दो पुत्रियां थी इसके बाद पुत्र नहीं होने से सिरोही के सिद्रत निवासी मोतीलाल तांत्रिक भोपा को उसके पुत्र गोकुल व जगदीश के बारे में जानकारी मिली। उसके बाद वह वहां पहुंचे जहां उसके द्वारा तांत्रिक विधि करने के बारे में बताया। इसके बाद पीड़िता को सहयोग से दो जुड़वा पुत्र हुए कुछ समय बाद आरोपी तांत्रिक व उसके पुत्र भीनमाल उसके घर आए तथा जुड़वा पुत्रों की जान को खतरा बताते हुए टोना टोटका करने की बात कही। 


इसके लिए 3 लाख 51 हजार चाहिए जो संदूक में भरकर घर में रखने होंगे। इसके बाद 2 लाख 25 हजार और 5 तोला सोना चांदी के जेवरात के लिए टोना टोटका किया। जब पीड़ित परिवार ने बक्से में तांत्रिक की ओर से रखवा के रुपए और सोने चांदी के गहने देखे तो गायब मिले। जिस पर पीड़ित परिवार ने उक्त तांत्रिक को पुलिस कार्रवाई के बारे में बताया तो 2 लाख रुपये आरटीजीएस के जरिए वापस कर दिए। लेकिन शेष राशि अभी भी तांत्रिक व उसके पुत्र नहीं लौटा रहे है।


आपको बता दें कि इस संबंध में पीड़िता ने न्यायालय के जरिए पुलिस थाने में मामला भी दर्ज करवाया है लेकिन कार्रवाई नहीं होने से पीड़ित परिवार पुलिस थाने के चक्कर काटने को मजबूर है पीड़िता का आरोप है कि पुलिस तांत्रिक की राजनीतिक पहुंच होने से कार्रवाई नहीं कर रही है ऐसे में पीड़ित दंपति पुलिस अधिकारियों से लगातार कार्रवाई की गुहार लगा रहे हैं वहीं पुलिस कार्रवाई नहीं होने पर पति पत्नी ने बच्चों के साथ आत्मदाह करने की चेतावनी भी दी गई है। इधर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले पर कार्रवाई चल रही है।

 

Next Story