MP Nikay Chunav 2022: शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर लगाया राजनीति के अपराधीकरण का आरोप, कहीं ये बात

भोपाल: मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव का बिगुल बज चुका है और इन चुनावों में प्रत्याशियों के नाम घोषित होते ही कांग्रेस और बीजेपी के बीच धमासान भी शुरु हो गया है। दोनों ही पार्टियां अपने प्रत्याशी को बेहतर बता रहे हैं और दूसरे को खराब। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान( shivraj singh chauhan) ने

MP Nikay Chunav 2022: शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर लगाया राजनीति के अपराधीकरण का आरोप, कहीं ये बात
x

भोपाल:  मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव का बिगुल बज चुका है और इन चुनावों में प्रत्याशियों के नाम घोषित होते ही कांग्रेस और बीजेपी के बीच धमासान भी शुरु हो गया है। दोनों ही पार्टियां अपने प्रत्याशी को बेहतर बता रहे हैं और दूसरे को खराब। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान( shivraj singh chauhan) ने कांग्रेस पर तंज कंसा है और राजनीति के अपराधीकरण का आरोप लगाया है। सीएम ने ये भी कहा है कि बीजेपी सिर्फ अच्छे लोगों को टिकट देती है और स्वच्छ राजनीति करती हैं। 


कांग्रेस ने राजनीति का किया अपराधीकरण- शिवराज सिंह चौहान


मध्यपदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार सुबह मीडिया को संबोधित किया और निकाय चुनावों को लेकर चर्चा की। इस चर्चा में सीएम ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि  कांग्रेस ने राजनीति का अपराधीकरण कर दिया हैं। उन्होंने सिर्फ अपराधियों को ही टिकट दिया है जो कि समाज के लिए अच्छा नहीं है। 


भारतीय जनता पार्टी स्वच्छ राजनीति के पक्षधर हैं- सीएम शिवराज


मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि बीजेपी स्वच्छ और अच्छी राजनीति ही करती है और अपराधियों को टिकट नहीं देती है इसे साबित करते हुए उन्होंने इंदौर के भी प्रत्याशी के निर्णय की चर्चा की और कहा कि जैसे ही इंदौर की टिकट का संज्ञान में आया कि किस आदतन अपराधी के परिवार मेल से टिकट मिला है तुरंत हमने ऐक्शन लिया।आगे भी अगर अगर ऐसा कोई बात संज्ञान में आएगी ये बात तो ये बात पक्की है कि भारतीय जनता पार्टी उसपर ऐक्शन लेगी। जन जनता से चुने हुए प्रतिनिधि सेवा के लिए होते हैं जनकल्याण के लिए होते हैं अपराधियों को हमारी पार्टी में कोई जगह नहीं मिलेगी। 


सीएम ने इसके आगे ये भी कहा कि जुआं ,सट्टा ऐसी गतिविधियों में लिप्त लोगों को भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार नहीं बनाएगी और अगर कहीं बना होगा तो उसे हटाएगी। बता दें कि निकाय चुनावों में नामांकन की प्रक्रिया समाप्त हो गई है और 22 जून तक नाम वापसी की प्रक्रिया चलेगी जिसके बाद चुनाव चिन्ह बांट दिए जाएंगे। 


Next Story