Manipur Election 2022: भाजपा की ओर से जारी उम्मीदवारों के नाम के बाद मणिपुर में विरोध प्रदर्शन

भाजपा में शामिल होने वाले कम से कम 10 पूर्व कांग्रेस नेताओं को टिकट दिया गया है। भाजपा ने घोषणा की है कि वह मणिपुर विधानसभा चुनाव में सभी 60 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

Manipur Election 2022: भाजपा की ओर से जारी उम्मीदवारों के नाम के बाद मणिपुर में विरोध प्रदर्शन
x

मणिपुर में अगले महीने चुनाव होने जा रही हैं और इस कड़ी में हाल ही में भाजपा द्वारा चुनावों के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की गई। हालांकि, कई लोगों ने टिकट बंटवारे पर नाराजगी जताई। निराशा से चलते रविवार को विरोर्ध प्रदर्शन शुरू हो गया। भाजपा समर्थकों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के पुतले तक जला दिए। साथ ही खूब नारेबाजी की। बता दें कि उम्मीदवारों की सूची जारी करने से पहले ही विवाद होने के आसार थे। ऐसे में राज्य की सुरक्षा टाइट रखने भी आदेश जारी हुए थे।


राज्य के विभिन्न हिस्सों में पार्टी कार्यालयों में तोड़फोड़ की गई और प्रदर्शनकारी कई इलाकों में तख्तियों के साथ जमा हो गए। इंफाल में भाजपा मुख्यालय के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि टिकट पाने की उम्मीद कर रहे पार्टी के कुछ पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है, हालांकि, कितने लोगों ने पार्टी छोड़ी, ये अभी स्पष्ट नहीं हुआ। 


भाजपा में शामिल होने वाले कम से कम 10 पूर्व कांग्रेस नेताओं को टिकट दिया गया है। बता दें कि भाजपा ने घोषणा की है कि वह मणिपुर विधानसभा चुनाव में सभी 60 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह हिंगांग में अपनी पारंपरिक सीट से चुनाव लड़ेंगे। मणिपुर के एक अन्य प्रमुख मंत्री बिस्वजीत सिंह थोंगजू सीट से चुनाव लड़ेंगे। पूर्व राष्ट्रीय फुटबॉलर सोमाताई सैजा उखरूल से चुनाव लड़ेंगी।


2017 के चुनाव में भाजपा ने 21 सीटें जीती थीं लेकिन छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों की मदद से सरकार बना ली थी। भाजपा सूत्रों ने बताया कि इनमें से 19 विधायकों को पार्टी का टिकट दिया गया है और तीन को बाहर कर दिया गया है। मणिपुर भाजपा ने केवल तीन महिलाओं और एक मुस्लिम उम्मीदवार को मैदान में उतारा है। भाजपा में शामिल हुए मणिपुर कांग्रेस के पूर्व प्रमुख गोविंददास कोंथौजम को भी चुनाव लड़ने के लिए पार्टी का टिकट मिला है। भाजपा सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री के अधिकांश वफादारों को पार्टी का टिकट मिला है।

Next Story