दिल्ली में CM गहलोत ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- धर्म के नाम पर जो ये भड़का रहे हैं लोगों को आप सोचिए इनकी सोच क्या है..

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने आज दिल्ली में कांग्रेस हेडक्वार्टर (AICC) में स्पेशल प्रेस कॉन्फ्रेंस (Gehlot targets bjp rss) की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने संघ और भाजपा पर जमकर हमला बोला है।

दिल्ली में CM गहलोत ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- धर्म के नाम पर जो ये भड़का रहे हैं लोगों को आप सोचिए इनकी सोच क्या है..
x

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने आज दिल्ली में कांग्रेस हेडक्वार्टर (AICC) में स्पेशल प्रेस कॉन्फ्रेंस (Gehlot targets bjp rss) की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने संघ और भाजपा पर जमकर हमला बोला है। मुख्यमंत्री गहलोत ने आजादी के बाद की देश के दो टुकड़ों में बंटने और फिर पाकिस्तान के बंटवारे की कहानी बयां की। 


सीएम गहलोत भाजपा पर बरसते हुआ कहा कि, 'जो हालात हैं देश में वो चिंताजनक हैं,एक तरफ राहुलजी को 5 दिन तक 50 घंटे पूछताछ की गयी,ऐसा कभी हुआ नहीं, राहुलजी ने भी जिस रूप से ED को फेस किया वो भी बेमिसाल है, 50 घंटे लगातार पूछताछ,लंच पर जाने को भी अलाऊ न करना,साढ़े12-पौने1 बजे रात तक रोके रखना तमाम रिकॉर्ड पहली बार बन रहे है।' आगे उन्होंने कहा कि, जिस प्रकार पुलिस का रवैया था वो भी बेमिसाल था आजतक ऐसा रवैया पुलिस का कभी सामने नहीं आया, पॉलिटिकल मूवमेंट होते हैं, उसको फेस करती हैं विपक्षी पार्टियां,ये पहली बार है कि पुलिस द्वारा टार्गेट कर करके कांग्रेस नेताओं को चुन-चुन कर उनके साथ मिसबिहेव किया गया, कई जगह पिटाई भी हो गयी। '


इसके अलावा उन्होंने पुलिस की कार्रवाई पर बोलते हुए कहा कि, उनको थानों के अंदर,रात को 12-1-1बजे छोड़ा गया ये पहली बार पुलिस का आतंक देख रहे है एक चिंता की स्थिति है,मैं समझता हूँ ये पुलिस का रिहर्सल है देश के लिए जब तानाशाही आएगी पूरी तरह तब किस प्रकार का व्यवहार करना है,उसका रिहर्सल करने का पुलिस को जो मौका दिया गया खतरनाक है।'




ईडी और राष्ट्रपति चुनाव को लेकरभी गहलोत ने अपनी राय रखी। उन्होंने कहा- पूरे देश से विधायकों को दिल्ली में बुलाए जाने के पीछे कारण कांग्रेस की सॉलिडेरिटी का प्रदर्शन करना तो है ही, इसके साथ ही राष्ट्रपति चुनाव के लिए विधायक प्रस्तावक बनने दिल्ली पहुंचे हैं। सीएम ने सोनिया गांधी के ईडी के समक्ष पेश होने पर कहा- मैं चाहता हूं कि स्वास्थ्य को देखते हुए वो ईडी में न जाएं और जहां तक मुझे जानकारी है प्रवर्तन निदेशालय को यह कहलवा दिया है। उन्हें बताया गया है कि सोनिया गांधी एजेंसियों का सम्मान करती हैं और इस मामले में वो पूरा कॉर्पोरेट करेंगी लेकिन अभी वो स्वास्थ्य कारणों के चलते ईडी नहीं जाएंगी।'


आगे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा की पहले तो केंद्र सरकार की ओर से अग्निपथ जैसी योजना सेना भर्ती में लागू की। देश में इतना उत्पात मचा है। हम लोग उनसे अपील कर रहे हैं की आगजनी तोड़फोड़ हम पसंद नहीं करते। अगर किसी को बात रखनी है तो वह शांतिपूर्वक तरीके से रखे और हिंसा न करें। गहलोत ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार लोगों को उल्टा भड़का रही है। बोले- केन्द्र लोगों को भड़का रही है। कह रही है जिन्होंने आंदोलन में भाग लिया है, उन्हें अग्निपथ के जरिए भर्ती नहीं दी जाएगी, भर्ती से पहले सर्टिफिकेट मांगे जाएंगे जो युवाओं को भड़काने का काम है।'


धर्म के नाम पर उन्होंने बोलते हुए कहा की, 'धर्म के नाम पर देश बन सकते हैं, पर देश एक व अखंड रहेगा ये कोई गारंटी नहीं है हमने अपने पड़ोस में देखा है। धर्म के नाम पर जो ये भड़का रहे हैं लोगों को आप सोचिए इनकी सोच क्या है.. क्या धर्म के नाम पर,हिंदू धर्म के नाम पर ये हिंदू राष्ट्र बनाकर इस देश को एक व अखंड रखेंगे? रख पाएंगे?'

Next Story