छत्रपति संभाजी महाराज ने राज्यसभा चुनाव से अपनी दावेदारी पीछे ली, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगाया बड़ा आरोप !

छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति संभाजी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए राज्यसभा चुनाव से अपनी दावेदारी पीछे ले ली है।

छत्रपति संभाजी महाराज ने राज्यसभा चुनाव से अपनी दावेदारी पीछे ली, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगाया बड़ा आरोप !
x





मुंबई:- छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति संभाजी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए राज्यसभा चुनाव से अपनी दावेदारी पीछे ले ली है। मुंबई में आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए छत्रपति संभाजी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर आरोप लगाया कि ठाकरे ने उन्हें राज्यसभा को लेकर जुबान दी थी और वो उसी से मुकर गए।



6 साल पहले छत्रपति संभाजी भाजपा की मदद से राष्ट्रपति के कोटे से राज्यसभा सदस्य बने थे। अब महाराष्ट्र में राज्यसभा की 6 सीटों पर हो रहे चुनाव में छत्रपति संभाजी निर्दलीय मैदान में उतरने जा रहे थे, इसलिए उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से समर्थन मांगा था लेकिन शिवसेना ने महाविकास अघाड़ी के दम पर राज्यसभा की दूसरी सीट लड़ने का फैसला किया। उसके बाद छत्रपति संभाजी की दावेदारी मुश्किल में आ गयी।



छत्रपति ने कहा कि सीएम उद्धव ठाकरे ने उन्हें मातोश्री बुलाकर मदद करने का भरोसा दिलाया था बाद में शिवसेना के 2 सांसदों के ज़रिए उन्हें शिवसेना में आने का ऑफर दिया गया, जिसे उन्होंने सिरे से नकार दिया। छत्रपति का कहना है की अगर वो राज्यसभा चुनाव लड़ते है तो हॉर्स ट्रेडिंग के आसार बनेंगे इसी लिए वो इस चुनाव से अपने दावेदारी पीछे ले रहे है।


छत्रपति संभाजी ने स्वराज नाम के संघटन की स्थापना की है और वो इसी संघटन के बैनर के तहत पूरे महाराष्ट्र का दौरा करेंगे। छत्रपती के आरोपों पर शिवसेना के सांसद अरविंद सावंत का कहना है कि सीएम उद्धव ठाकरे अपने बयानों से कभी मुकरते नहीं और शिवसेना इस बार पार्टी के लिए काम करनेवाले  कार्यकर्ता को टिकट देना चाहती थी।

Next Story