आतंकियों की गिरफ्तारी पर बयान देकर फंसे ओवैसी

नई दिल्ली (3 जुलाई): राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए द्वारा हैदराबाद से गिरफ्तार किए गए कुछ आतंकियों के पक्ष में बयान देकर आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमीन के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी फंस गए हैं। सांसद योगी आदित्यनाथ ने ओवेसी पर पलटवार किया है।

सांसद योगी ने कहा कि एनआईए ने जब किसी पर कोई मामला होगा तभी गिरफ्तार किया होगा। मुझे लगता है कि चाहे वह ओवैसी हों या फिर कोई हो उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी समाज विरोधी, राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में लिप्त लोगों का समर्थन नहीं किया जाना चाहिए। योगी ने कहा कि एक तरफ आप कहते हैं कि आतंकवाद का कोई जाति मजहब नहीं होता है, वहीं दूसरी तरफ ऐसे लोगों का प्रश्रय देते हैं जो कि गलत है। इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को आघात पहुंचता है।

गौरतलब है कि एनआईए द्वारा 3 दिन पहले हैदराबाद में गिरफ्तार किए गए आईएस के पांच आतंकियों को एमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कानूनी सहायता मुहैया कराने का एलान कर सनसनी फैला दी थी। ओवैसी के भड़काऊ बयानबाजी के विरोध में मेरठ में एक अधिवक्ता ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए अदालत में वाद दायर किया है। इसपर अगली सुनावाई छह जुलाई को होगी। मेरठ के वरिष्ठ अधिवक्ता अनिल बक्शी की तरफ से ऐसीजेएम चतुर्थ कोर्ट में वाद दायर किया गया है। उन्होंने बताया कि अखबारों में उन्होंने ओवैसी के बयानों को पढ़ा।