SBI की सफाई, सिर्फ इन जमा खातों से पैसे निकालने पर लगेगा चार्ज

नई दिल्ली ( 12 मई ): आपका बैंक अकाउंट भारतीय स्टेट बैंक(SBI) में हैं और आप भी इस खबर से परेशान हैं कि एक जून से आपको एटीएम से हर ट्रांजैक्शन पर 25 रुपये शुल्क चुकाने होंगे तो निश्चिंत हो जाए, क्योंकि ऐसा कुछ नहीं होने वाला। एसबीआई ने मीडिया में आई इन खबरों का खंडन किया है कि उसने नियमित एटीएम लेनदेन पर सेवा शुल्क बढ़ाकर 25 रुपये कर दिया है।


एसबीआई के प्रबंध निदेशक (राष्ट्रीय बैंकिंग) रजनीश कुमार ने कहा कि सामान्य बचत खातों से एटीएम के जरिये निकासी पर सेवा शुल्क में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है। बैंक ने अपने सर्कुलर में भी साफ किया कि सभी बचत खाताधारक पहले की तरह एटीएम से 8 फ्री ट्रांजैक्शन करते रहेंगे, जिनमें 5 एसबीआई के एटीएम से तो तीन अन्य बैंकों के एटीएम से किए जा सकेंगे। नॉन मेट्रो शहरों में तो ऐसे 10 ट्रांजैक्शन फ्री रहेंगे। एटीएम से महज 4 निकासी फ्री होने की लिमिट केवल स्टेट बैंक बडी कस्टमर के लिए है न की सभी खाताधारकों के लिए।


दरअसल एसबीआई एक नई सुविधा शुरू करने जा रहा है जिसमें बैंक के मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल कर एटीएम से पैसा निकाला जा सकेगा। हालांकि, मोबाइल वॉलेट के जरिये एटीएम से प्रत्येक निकासी के लिए बैंक 25 रुपये का शुल्क लेगा। एसबीआई के प्रबंध निदेशक (राष्ट्रीय बैंकिंग) रजनीश कुमार ने कहा कि यदि ग्राहक के पास हमारे मोबाइल वॉलेट एसबीआई बडी में पैसा है तो वह एटीएम से इसे निकाल सकता है। इसके अलावा ग्राहक अब मोबाइल वॉलेट से या मोबाइल वॉलेट में बिजनेस कॉरस्पॉन्डेंट (बीसी) के जरिये पैसा जमा कर सकता है या निकाल सकता है। इससे पहले ये सुविधाएं उपलब्ध नहीं थीं।


बीसी के जरिये मोबाइल वॉलेट में 1,000 रुपये जमा कराने पर बैंक 0.25 प्रतिशत का सेवा शुल्क और सेवा कर लगाएगा। यह न्यूनतम 2 रुपये और अधिकतम 8 रुपये होगा। इसके अलावा एसबीआई बडी से बीसी के जरिये 2,000 रुपये तक की निकासी पर लेनदेन के मूल्य का ढाई प्रतिशत सेवा शुल्क (न्यूनतम छह रुपये) और सेवा कर लगाया जाएगा।