पहाड़ धंसने से बनी झील, दो राज्यों पर संकट गहराया

नई दिल्ली (15 अगस्त): नार्थ सिक्किम में पहाड़ के दरकने से कनका नदी में कृतिम झील बन गई है। 150 फिट चौड़ी इस झील से सिक्किम के निचले इलाकों और उत्तरी बंगाल पर खतरा मंडराने लगा है। झील में पानी बढ़ता रहा तो इसकी दीवारें किसी भी वक्त टूट सकती हैं और लाखों क्यूसेक पानी निचले इलाकों में भारी तबाही ला सकता है। झील भयावह रूप ने ले इसके लिए उपाय किए जा रहे हैं।

इस झील के विस्फोटक रूप को देखते हुए सिक्किम के साथ-साथ पश्चिम बंगाल तक बाढ़ का का खतरा पैदा हो गया है। सिक्किम में पहुंची एनडीआरएफ की टीम एक ऐसे प्लान पर काम कर रही है जिससे झील के पानी को सुरक्षित निकाला जा सके। एहतियात के तौर पर आसपास के इलाकों को भी खाली करवा दिया गया है। भारी बारिश की वजह से  सिक्किम में एक पूरा पहाड़ ही टूटकर नीचे गिर रहा है। दरकते पहाड़ से पेड़, पत्थर, मलबा, मिट्टी सबकुछ तेजी से नीचे गिर रहा है। इस ज़बरदस्त लैंडस्लाइड की गूंज कई किलोमीटर दूर तक गूंज सुनाई दे रही है।