बासी आटा या भोजन खाने वाले सावधान, उठाने पड़ते है ये नुकसान

नई दिल्ली (24 फरवरी): क्या आप भी उन महिलाओं में से हैं जो अपना कुछ समय बचाने के लिए रात को ही आटा गूंथकर, लोई बनाकर रेफ्रिजरेटर में रख देती हैं या फिर फ्रिज मे रखा बासी खाना परिवार को खिलाती हैं। अगर आप उनमें से हैं तो हो जाइए सावधान।

ऐसा करके शायद आप अपने परिवार को निगेटिव एनर्जी के और करीब लेकर जा रही हैं। बासी आटा या बासी खाना खाते वक्त हम इतना सोचते भी नहीं कि ये हमारी सेहत और किस्मत को बिगाड़ सकता है। हमें ढेरों मुश्किलों में डाल सकता है।

शास्त्रों में बासी आटे से कौन-कौन से नुकसान उठाने पड़ सकते हैं...

अन्न मन को प्रभावित करता है। मन का सेहत, रोग और जीवन से गहरा संबंध है इसलिए कहा गया है जैसा अन्न, वैसा हो मन-तन और जीवन। इसलिए कभी भी फ्रिज में ज्यादा आटा गूंथकर नहीं रखना चाहिए। आटा उतना ही गूंथे जितना एक दिन में रोटी बनाने के लिए जरूरी हो क्योंकि फ्रिज में रखा आटा निगेटिव एनर्जी को घर में लाता है। गूंथे हुए आटे को उस पिण्ड की तरह माना जाता है, जो पिण्ड मृत्यु के बाद जीवात्मा को समर्पित किए जाते हैं। किसी भी घर में जब फ्रिज में गूंथा आटा रखने की परंपरा सी बन जाती है, वहां पितर और निगेटिव एनर्जी जो पिण्ड पाने से वंचित रह जाते हैं वो आपके घर में आना शुरू करते हैं तो इसलिए जितनी जरूरत हो उतना ही आटा गूंथें।

बासी भोजन का सेहत के साथ-साथ आपकी किस्मत पर भी बुरा असर डालता है। शास्त्रों में भी कहा गया है कि बासी भोजन प्रेतों का भोजन होता है और इसका सेवन करने से व्यक्ति के अंदर हमेशा निराशा बनी रहती है।

- बासी भोजन आपका गुस्सा भी बढ़ा सकता है। - बासी भोजन करने से आप जल्दी-जल्दी बीमार पड़ सकते हैं। - जो लोग जानबूझकर बासी भोजन का शौकीन होता है उसका स्वभावन हमेशा चिड़चिड़ा ही रहता है। - ऐसे व्यक्ति को जीवन में कभी सफलता नहीं मिलती है। - जिन घरों में बासी भोजन का ज्यादा इस्तेमाल होता है। उनमें रहने वालों की तरक्की में हमेशा रुकावटें आती हैं। - जिन घरों में बासी भोजन ज्यादा खाया जाता है या जहां आटा गूंथकर 2 दिन तक फ्रिज में रखा जाता है, वहां रहने वालों में हमेशा उलझन बनी रहती है। - रात में फ्रिज में रखे आटे से दूसरे दिन रोटी बनाकर खाने से ग्रहों का भी बुरा प्रभाव पड़ता है। - ऐसा भोजन तामसिकता को बढ़ावा देता है जिससे रोग होते हैं। - ताजा खाना बनाकर खाने वाले व्यक्ति का तन और मन हमेशा स्वस्थ रहता है। इसलिए हमेशा कोशिश करें कि ताजा और भोजन बनाकर ही खाएं।