रविशंकर प्रसाद ने दलितों संग 5 स्टार होटल में किया लंच, बोले- 'उन्हें भी अच्छे होटल में खाने का अधिकार'

नई दिल्ली (15 अप्रैल): कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बाबा साहब भीम राव अंबेडकर की 127वीं जयंती के अवसर पर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को पांच सितारा होटल में भोजन करवाया। कानून मंत्री ने कहा कि दलितों को सशक्त बनाने के लिए पटना के एक पांच सितारा होटल में एक कार्यक्रम को आयोजन किया गया।

बता दें कि रविशंकर प्रसाद ने दलितों के साथ दिन का भोजन किया, जिसके बाद मामला सुर्खियों में आ गया। आपको बता दें कि बाबा साहब अंबेडकर की जयंती के अवसर पर पीएम मोदी ने अपने सभी केंद्रीय मंत्रियों को निर्देश दिए हैं कि वे 14 अप्रैल से 5 मई तक दलित बस्तियों में जाएं और उन लोगों की समस्याओं को सुनें और उनके परिवारों के साथ दिन का भोजन करें।

सोशल मीडिया में तस्वीरें और वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। विपक्षी दलों ने इसे दलितों का अपमान और भाजपा का दलितों के प्रति झूठा प्रेम बताया। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा 'पटना के ‘चीना कोठी दलित टोला’ में गरीब दलितों के यहाँ खाना ठुकराने के बाद पाँच सितारा होटल पहुँच छोले-भटूरे खाकर अंबेडकर जयंती पर दलित सशक्तिकरण करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद।'

पटना के ‘चीना कोठी दलित टोला’ में गरीब दलितों के यहाँ खाना ठुकराने के बाद पाँच सितारा होटल पहुँच छोले-भटूरे खाकर अंबेडकर जयंती पर दलित सशक्तिकरण करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद। pic.twitter.com/cUMRnfeTDZ

— Tejashwi Yadav (@yadavtejashwi) April 15, 2018

तेजस्वी के ट्वीट का पलटवार करते हुए रविशंकर प्रसाद ने लिखा, 'आंबेडकर जयंती के अवसर पर बिहार के डिजिटली साक्षर दलित महिलाओं को सम्मानित किया गया. मैं खुद को गौरवान्वित मानता हूं कि मैने उनके साथ लंच किया. हमारे एससी/एसटी बहन-बेटियों को भी अच्छे होटल में खाना खाने का पूरा अधिकार है। मुझे खुशी है कि मैं उसका आयोजक था.'

पूरे बिहार से आयी डिजिटल साक्षर SC/ST बहनों और बेटियों को अम्बेडकर जयंती के दिन पटना में सम्मानित किया और उनके साथ भोजन किया। क्या ऐसी ग़रीब SC/ST बहनों को मेरे साथ बड़े होटल में भोजन करने का अधिकार नहीं है? ये मेरा सौभाग्य है कि मैंने उनका सत्कार किया और उनके साथ भोजन किया। https://t.co/MVevUA322w

— Ravi Shankar Prasad (@rsprasad) April 15, 2018