अलर्ट पर वैज्ञानिक, बाल-बाल बचे इसरो के 2 रॉकेट लॉन्च पैड


श्रीहरिकोटा (13 दिसंबर): तमिलनाडु में वरदा तूफान ने जमकर कहर बरपाया है। इस तूफान की चपेट में आने से कम से कम 7 लोगों की मौतें हो चुकी है। वहीं भारी तादद में जान माल की नुकसान हुई है। उधर श्रीहरिकोटा स्थित इसरो का सतीश धवन स्पेस सेंटर के रॉकेट लॉन्च पैड इस तूफान की चपेट में आने से बाल-बाल बच गया। तूफान की आशंकाओं के मद्देनजर वैज्ञानिकों की पहले से की गई बचाव तैयारियों ने इसरो के 2 रॉकेट लॉन्चल पैड को तूफान से प्रभावित होने से बचा लिया।



सतीश धवन स्पेस सेंटर के वैज्ञानिक लगातार बदलसे मौसम पर नजर बनाए हुए थे। वैज्ञानिकों को ज्यों ही लगा कि तूफान स्पेसरपोर्ट के नजदीकी इलाके तक पहुंच सकता है उन्होंने जरूरी उपाय करने शुरू कर दिए। वैज्ञानिक दो लॉन्च पैड और दूसरी तकनीकी चीजों को सुरक्षित करने में जुट गए।


हालांकि तूफान की वजह से सतीश धवन स्पेस सेंटर में मौजूद कई सारे पेड़ गिर गए पर दूसरी चीजों पर असर नहीं पड़ा। स्पेस सेंटर के डायरेक्टर पी कुन्हीकृष्णन ने बताया, 'हमने मौसम की भविष्यवाणियों पर नजर बनाए रखी थी। आपातकालीन उपाय भी किए गए थे। इस वजह से हम कुछ खास प्रभावित नहीं हुए।'


बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव वाले क्षेत्र के कारण बना चक्रवाती तूफान वरदा चेन्नै पहुंच चुका है। अब चेन्नै शहर में भी इस तूफान से नुकसान की आशंका जताई जा रही है। तमिलनाडु में अबतक 7 लोगों की मौत हो चुकी है। सेना को किसी भी हालात के लिए तैयार है।