श्रीश्री के कार्यक्रम से यमुना तट को हुआ 13.29 करोड़ का नुकसान !

नई दिल्ली (12 अप्रैल): पिछले साल मार्च में हुए आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर के कार्यक्रम से यमुना तट को भारी नुकसान हुआ। ये कहना है राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण यानी NGT एक विशेषज्ञ का। साथ ही NGT की इस टीम का कहना है कि श्रीश्री के इस कार्यक्रम से यमुना की पारिस्थितिकी को हुए नुकसान को ठीक करने में 13.29 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। श्रीश्री रविशंकर की संस्था ऑर्ट ऑफ लिविंग के स्‍थापना दिवस के मौके पर दिल्ली में यमुना तट पर 11 से 13 मार्च 2016 को विश्व संस्कृति महोत्सव आयोजन किया गया था।


वहीं इस पूरे मामले पर आर्ट ऑफ लिविंग के प्रवक्ता केदार देसाई का कहना है कि हमारी लीगल टीम मामले के सभी पहलुओं पर बारीकी से जांच करेगी और बाद में ही किसी तरह का एक्शन लिया जाएगा।


आपको बता दें कि पिछले साल मार्च में हुए इस कार्यक्रम से पर्यावरण को जो नुकसान हुआ था उसको देखते हुए NGT ने ऑर्ट ऑफ लिविंग पर 5 करोड़ की राशि का जुर्माना लगाया गया था। रिपोर्ट से इस बात की संभावना जताई जा रही है कि NGT इस राशि को बढ़ भी सकती है।