श्रीलंकाई क्रिकेटरों को लेकर मुथैया मुरलीधरन ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली ( 14 अप्रैल ): महान श्रीलंकाई स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने श्रीलंकाई क्रिकेटरों के आईपीएल में खेलने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका में प्रतिभाशाली क्रिकेटर तो हैं, लेकिन आईपीएल में खेलने के लिए अभी उन्हें तराशना होगा। एक समय था जब श्रीलंका के कई क्रिकेटर आईपीएल में हिस्सा लेते थे, लेकिन इस संस्करण में स्थिति ऐसी नहीं है।


45 वर्षीय मुरलीधरन ने कहा, 'हमारे पास कई महान खिलाड़ी थे, लेकिन अब वे रिटायर हो चुके हैं। जब तक हमारे नए खिलाड़ी खुद को स्थापित नहीं कर लेते, आईपीएल की टीमें उन्हें नहीं खरीदेगी, क्योंकि एक टीम में सिर्फ चार विदेशी खिलाड़ी ही खेल सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के पास अच्छे खिलाड़ी हैं। हमारे खिलाड़ी इनकी तुलना में कमजोर है।


मुरली ने कहा कि टी20 फॉर्मेट ने क्रिकेट में विकास में अहम भूमिका निभाई है। इस फॉर्मेट के चलते क्रिकेट अब युवाओं में ज्यादा लोकप्रिय हुआ है। क्रिकेट में बहुत बदलाव हुआ है, 90 के दशक में वन-डे में जहां 220 का स्कोर मजबूत माना जाता था, वहीं अब 350 का लक्ष्य भी सुरक्षित नहीं होता है।