श्रीलंका में लगातार फैल रही सांप्रदायिक हिंसा, पूरे देश में लगा कर्फ्यू

Image Credit: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 मई): श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए आत्मघाती हमले के बाद स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। लगातार कोशिशों के बावजूद यहां सांप्रदायिक हिंसा फैलती जा रही है। अल्पसंख्यक मुसलमानों और बहुसंख्यक सिंहली समुदायों के बीच हिंसा की घटनाओं को देखते हुए देशभर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। ये कर्फ्यू सामवार की रात में छह घंटे के लिए लगाया गया है। लेकिन, अगर फिर भी हालात नहीं सही हुए तो इसी सीमा बढ़ाई भी जा सकती है। वहीं कुछ जगहों पर कर्फ्यू पहले से ही लगा हुआ था, जिसे हटाने पर फिर हंसा हुई तो कर्फ्यू को मंगलवार की शाम चार बजे तक के लिए दोबारा लगाना पड़ा।

पुलिस ने बताया कि हेतीपोला गांव में उपद्रवियों ने मस्लिमों के घरों पर पत्‍थरबाजी की, मोटरसाइकिलों और कारों में आग लगा दी। इस दौरान करीब तीन दुकानों को भी उपद्रवियों ने खाक कर दिया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब उपद्रवियों ने मस्जिद पर हमला किया तो पुलिस को हवाई फायर और आंसू गैसे के गोले छोड़ने पड़े. वहीं इस दौरान किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।

इस बीच सेना प्रमुख महेश सेनानायक ने कहा है कि सैनिकों को कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों से कड़ाई से निपटने का निर्देश दिया गया है। इससे पहले श्रीलंका सरकार ने देश में अल्पसंख्यक मुसलमानों और बहुसंख्यक सिंहली समुदायों के बीच हिंसा की घटनाओं के बाद सोशल मीडिया पर भी फिर से प्रतिबंध लगा दिया था। फेसबुक और व्हाट्सऐप पर प्रतिबंध से एक दिन पहले श्रीलंकाई पुलिस ने रविवार को देश के पश्चिम तटीय शहर चिलॉ में भीड़ द्वारा एक मस्जिद और मुस्लिमों की कुछ दुकानों पर हमला किए जाने के बाद तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया था। गौरतलब है कि देश में 21 अप्रैल को तीन गिरजाघरों और तीन लक्जरी होटलों में हुए आत्मघाती हमलों में 253 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से अधिक लोग घायल हो गए थे। इन हमलों के बाद से देश में हिंसा की घटनाएं बढी हैं।