श्रीलंका में तमिल राष्ट्रगान से हटाया गया अनौपचारिक प्रतिबंध

नई दिल्ली (5 फरवरी): तमिल राष्ट्रगान पर लगे अनौपचारिक प्रतिबंध को हटाते हुए श्रीलंका के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश का राष्ट्रगान तमिल भाषा में गाया गया। यह कदम सजातीय अल्पसंख्यक तमिल समुदाय के साथ मैत्री के प्रयास के तहत उठाया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीलंका को ब्रिटेन से मिली आजादी की 68वीं वषर्गांठ के अवसर पर स्कूली छात्रों ने गाले फेस ग्रीन पार्क में रंगारंग समारोह का आयोजन किया। जिसमें सिंहला और तमिल भाषा में राष्ट्रगान गाया। इस कदम को लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के साथ लगभग 26 साल तक चले युद्ध के बाद तमिल अल्पसंख्यक समुदाय तक पहुंचने के सरकार के प्रयास के तहत देखा जा रहा है। लिट्टे के साथ चले इस युद्ध की समाप्ति वर्ष 2009 में हुई। गृहयुद्ध के दौरान लगभग एक लाख लोग मारे गए थे।

सार्वजनिक उद्यम विकास उपमंत्री एरान विक्रमरत्ने ने बताया, "तमिल में राष्ट्रगान की बहाली करने से एक नए सफर की शुरुआत हो गई है।" उप विदेशमंत्री हर्षा डी सिल्वा ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, "मेरे जीवन में पहली बार ऐसा हुआ है। इतने वर्षों बाद स्वतंत्रता दिवस के जश्न का समापन तमिल में राष्ट्रगान गाकर हुआ।"