BREAKING: जैश के दो आतंकी गिरफ्तार और एक जासूस गिरफ्तार, करना चाहते थे बड़ा हमला

आसिफ सुहाफ, बारामूला (22 अक्टूबर): जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सीआरपीएफ और राष्ट्रीय राइफल्स ने अपने ज्वाइंट ऑपरेशन में दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। सफीर अहमद और फयाज अहमद नाम के ये दोनों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हैं, जिनका प्लान घाटी में दहशत फैलाना था।

सफीर अहमद और फयाज अहमद जैश के दोनों आतंकी घाटी में खूनी हमले की फिराक में थे, लेकिन इससे पहले कि ये दोनों अपने मंसूबे में कामयाब होते सुरक्षा बलों ने इन दोनों को धर दबोचा। सीआरपीएफ और राष्ट्रीय राइफल्स के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप में ये आतंकी पकड़े गए हैं।

बताया जा रहा है कि 16 अगस्त को सेना के काफिले पर हुए हमले का इन दोनों आतंकियों पर आरोप है। इन दोनों को रात में रेड के दौरान बारामुल्ला के कानिसपुरा इलाके से पकड़ा गया है। इन दोनों आतंकियों के पास से एक एके 47 राइफल, एक पिस्तौल और कुछ गोलाबारूद बरामद किया गया है। अधिकारी ने बताया कि ये दोनों बारामूला और आसपास के इलाकों में सक्रिय जैश के आतंक मॉड्यूल का हिस्सा थे, जिसका प्रमुख पाकिस्तानी आतंकवादी खालिद है।

जासूस पकड़ा:

वहीं जम्मू में आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में एक शख्स पकड़ा गया है। इसका शख्स का नाम बोधराज है। सेना इससे पूछताछ कर रही है। ये ड्रग्स की तस्करी के आरोप मे जेल में बंद था उसी दौरान ये आईएसआई के संपर्क मे आया था। उसके पास से पाकिस्तान के दो सिम कार्ड और सुरक्षा बलों की तैनाती दिखाने वाला एक नक्शा बरामद हुआ है।

फिया एजेंसियों को जम्मू जिले के चंगिया गांव के रहने वाले बोधराज के जासूसी गतिविधियों में शामिल होने और सुरक्षा बलों की तैनाती संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी देने की सूचना मिली थी, जिसके आधार पर साम्बा के रामगढ़ सेक्टर में एक विशेष तलाशी अभियान चलाया गया जिसमें ये गिरफ्तारी हुई है।