जब मैं क्रीज पर था तो मेरे मन में कोई भय नहीं था : शिवम दुबे

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर (आरसीबी) के खिलाफ मंगलवार को 23 रन से टीम की पहली जीत के बाद नाबाद 95 रन की पारी खेलने वाले बल्लेबाज शिवम दुबे ने बताया कि, जब वे मैच खेल रहे थे तो उनके मन में खेल के प्रति कोई भय नहीं था, जिस वजह से उन्होंने लंबी पारी खेली।

जब मैं क्रीज पर था तो मेरे मन में कोई भय नहीं था : शिवम दुबे
x

मुंबई: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर (आरसीबी) के खिलाफ मंगलवार को 23 रन से टीम की पहली जीत के बाद नाबाद 95 रन की पारी खेलने वाले बल्लेबाज शिवम दुबे ने बताया कि, जब वे मैच खेल रहे थे तो उनके मन में खेल के प्रति कोई भय नहीं था, जिस वजह से उन्होंने लंबी पारी खेली। केकेआर के खिलाफ सीजन के शुरुआती मैच में दुबे केवल तीन रन बना सके और सीजन के चौथे मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ फिर से तीन रन बनाए। बीच के मैचों में उन्होंने एलएसजी के खिलाफ 49 रन और पीबीकेएस के खिलाफ 57 रन बनाए थे।


मंगलवार को 28 वर्षीय बल्लेबाज दुबे ने नाबाद 95 रन की पारी खेली और टीम को जीत की ओर ले जाने के लिए एक बड़ा स्कोर स्थापित करने में मदद की।


शिवम दुबे ने जीत के बाद कहा, "टीम ने मेरा खेल के प्रति मनोबल बढ़ाया, मैं हमेशा अपने खेल का समर्थन करता हूं। मुझे लगता है कि मैं जिस गेंद को हिट कर सकता हूं, मैंने उस गेंद को हिट किया, जो छक्के और चौके में जाकर तब्दील हुआ। मैं बड़े शॉट खेलता चला गया, जिससे मेरा मनोबल और बढ़ गया।"


दुबे और उथप्पा की 165 रनों की साझेदारी के साथ सीएसके की यह सीजन में पहली जीत थी। साझेदारी को लेकर दुबे ने कहा, "मैं सिर्फ गेंद पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश कर रहा था क्योंकि बल्लेबाजी करते समय टीम के लिए बड़ा स्कोर बनाना मेरा लक्ष्य था। हमने वास्तव में अच्छी शुरूआत की, मैं उथप्पा के साथ साझेदारी का आनंद ले रहा था।"


उथप्पा ने दुबे की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने बाएं हाथ के बल्लेबाज को स्पिनरों को अच्छे से खेलने के लिए कहा था।

Next Story