IPL 2022: धोनी नहीं कर पाए फिनिश, सीएसके की करारी हार पर कप्तान ने क्या कहा? जानिए

IPL 2022 के 68वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स (RR VS CSK) को 5 विकेट से करारी हार थमा दी। इस हार के साथ इस सीजन सीएसके का सफर भी खत्म हो गया। सीएसके का प्रदर्शन इस सीजन बेहद खरा रहा।

IPL 2022: धोनी नहीं कर पाए फिनिश, सीएसके की करारी हार पर कप्तान ने क्या कहा? जानिए
x

नई दिल्ली: आईपीएल के 68वें मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से करारी हार थमा दी। इस हार के साथ इस सीजन सीएसके का सफर भी खत्म हो गया। सीएसके का प्रदर्शन इस सीजन बेहद खरा रहा। बीच सीजन एमएस धोनी को कप्तानी सौंपी गई, हालांकि वे टीम को आखिरी मैच में भी जीत नहीं दिला पाए। चार बार की आईपीएल चैंपियन और 3 बार उपविजेता सीएसके 14 मैचों में से 10 मुकाबले हारकर नौवें स्थान पर रही। सीएसके की करारी हार पर एमएस धोनी ने मैच के बाद बयान दिया। 




और पढ़िए - IPL 2022: मैच में कमेंट्री के दौरान हेटमायर और उनकी पत्नी पर गावस्कर ने कर दी ये घटिया टिप्पणी, फैंस ने लताड़ा





मोईन को बदलनी पड़ी गति 

सीएसके के कप्तान एमएस धोनी ने कहा, जब हमारे विकेट जल्दी आउट हो गए, तो मोईन को अपनी गति बदलनी पड़ी। मुझे लगता है कि अगर बल्लेबाजों में से कोई एक उसके साथ बल्लेबाजी करता, तो वह मोमेंटम जारी रख सकते थे। एक बार जब हम उन विकेटों को खो देते हैं तो भूमिका और जिम्मेदारी थोड़ी बदल जाती है और इससे वास्तव में मुश्किल खड़ी हो जाती है। 


अगर मोईन ना होते

कप्तान एमएस धोनी ने कहा, अगर वहां एक और विकेट खो देते, तो हमारे पास ऐसा कुछ भी नहीं होता जिसका हम बचाव करना चाहते। मैं कहूंगा हम 10-15 रन कम थे। आपको उसके बाद अच्छी गेंदबाजी करने की जरूरत है। अगर उनके सलामी बल्लेबाज जल्दी जा रहे हैं और यदि उन्हें पहले 6 ओवर में बहुत अधिक रन मिलते हैं तो 180 रन भी पर्याप्त नहीं है। 



शुरुआत महत्वपूर्ण

धोनी ने आगे कहा, इस आधार पर शुरुआत महत्वपूर्ण है। पहले छह ओवर विशेष रूप विकेटों पर अच्छे हैं। इसलिए मुझे निश्चित रूप से 15 रन कम लगते हैं। सोलंकी और पथिराना के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, उन्हें जो भी मैच मिले हैं, उन्होंने उससे बहुत कुछ सीखा है। 


मुकेश चौधरी की तारीफ

धोनी ने कहा, सबसे बड़े उदाहरणों में से एक मुकेश है। उसने सभी खेल खेले हैं लेकिन पहले गेम से आखिरी गेम तक यह देखना प्रभावशाली है कि उसने कैसे सुधार किया है, वह डेथ पर कैसे गेंदबाजी कर सकता है। 


हम वास्तव में खिलाड़ियों से यही चाहते हैं। एक बार जब उन्हें वह अनुभव मिल जाता है, तो आईपीएल से बाहर होने के बाद अगले साल से जो महत्वपूर्ण है वह यह कि वे फिर से खराब प्रदर्शन से शुरू नहीं करेंगे। युवाओं को इसकी जरूरत है और उनमें से ज्यादातर को जो भी मौका मिला है, उसका भरपूर फायदा उठाया है। 


अगले साल जूनियर मलिंगा की एंट्री पक्की

हमारा जूनियर मलिंगा वह वास्तव में अच्छा है। उसे चुनना मुश्किल है और मुझे लगता है कि वह अगले साल निश्चित रूप से हमारे लिए बड़ा योगदान देगा। हमने पैच में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करते रहने के लिए महत्वपूर्ण चीजों पर बात करते हैं। 




और पढ़िए - भारतीय महिला टीम के कोच बने रहेंगे रमेश पोवर




धोनी ने कहा, महत्वपूर्ण बात यह है कि जब भी आपको मौका मिलता है, तो आपको इसका अधिकतम लाभ उठाने की जरूरत होती है चाहे आप गेंदबाज हों या बल्लेबाज, बस सीखते रहें। यह एक साल का टूर्नामेंट नहीं है। आप साल-दर-साल वापस आते रहते हैं। इसलिए एक बार जब आप सीखते रहते हैं और एक बार परिपक्व हो जाते हैं, तब आप इसका फायदा उठाना चाहिए। अगले 10-12 वर्षों के लिए आईपीएल के बड़े खिलाड़ी बनते हैं। यही आपको युवाओं से चाहिए।







और पढ़िए - खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें












Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story