फ्लाइट में कस्टमर का सामान खोया, कोर्ट ने स्पाइसजेट को दिया ये आदेश

नई दिल्ली (1 जनवरी): एक शीर्ष कन्ज्यूमर कोर्ट ने स्पाइसजेट एयरलाइन पर त्रिपुरा के रहने वाले एक शख्स को 60,000 रुपए का जुर्माना भत्ता देने का आदेश दिया है। कोर्ट ने एयरलाइन की एक फ्लाइट में इस ग्राहक का सामान खो जाने की शिकायत पर यह आदेश दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस जेएम मलिक ने एयर कैरियर को अगरतल्ला के रहने वाले डॉ. अतानु घोष को ये भत्ता देने के लिए कहा है। घोष के 5 रजिस्टर्ड 'चेक-इन' बैग्स में से एक फ्लाइट के दौरान खो गया और फिर मिल नहीं सका। घोष ने दावा किया था कि बैगेज में कई कीमती सामान थे जिनमें उसका विडियो कैमरा, डिजिटल कैमरा, कॉस्मेटिक्स और कपड़े थे। जिनकी कीमत 90,000 रुपए थी। 

इसके लिए लोअर फोरा ने घोष को 50,000 रुपए दिए जाने का आदेश दिया था। लेकिन एयरलाइन ने नेशनल कन्ज्यूमर डिस्प्यूट्स रिड्रैसल कमिशन (एनसीजीआरसी) से इस आदेश के खिलाफ गुहार लगाई और कहा कि घोष को आदेश में दी जाने वाली रकम ज्यादा है। हालांकि, एनसीडीआरसी ने कहा कि भत्ता पहले से ही कम है। इसलिए एयरलाइन की पिटीशन खारिज कर दी और 10,000 रुपए का अतिरिक्त भत्ता देने के लिए कहा।