'यूएन में नवाज का भाषण बना सुबूत, अब पाकिस्तान घोषित होगा आतंकी देश'

नई दिल्ली (29 सितंबर): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए अपने भाषण में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की तारीफ की थी, लेकिन अब यह पाकिस्तान के लिए महंगा साबित हो सकता है। पाकिस्तान को आतंकवाद को प्रायोजित करने वाला देश घोषित कराने का प्रस्ताव देने वाले एक अमेरिकी सांसद ने शरीफ के भाषण को इस बात का सबूत बताया है कि पाकिस्तान आतंकवाद को प्रायोजित कर रहा है। क्यों कि जिस बुरहान वानी को नवाज़ शरीफ ने यंग लीडर बताया था वो यूएन में ब्लैक लिस्टेड आतंकी गिरोह हिजबुल मुजाहिदीन का एरिया कमांडर था। 

अमेरिकी सांसद टेड पोए ने ट्वीट किया, 'यह देखकर निराश हूं कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के मंच से एक उग्रवादी समूह की तारीफ कर रहे हैं जो हिंसा फैलाता है। इसके अलावा दो अन्य सीनेटर्स मार्क वार्नर और जॉन कॉरनाइन ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में उड़ी में हुए आतंकी हमले पर चिंता जताई है।

दोनों सांसदों ने अपने पत्र में लिखा है कि शुरुआती संकेत यही हैं कि उड़ी में हमला करने वाले पाकिस्तानी थे और यह बड़ी चिंता की बात है। दोनों सांसदों के मुताबिक उड़ी अटैक में पाकिस्तान की संभावित भूमिका चिंता की बात है और पाकिस्तान भारत व अफगानिस्तान के खिलाफ आतंकवाद को अपनी विदेश नीति के स्तंभ के रूप में इस्तेमाल कर रहा है।