सीएम योगी ने गोरखपुर को एक्सप्रेस-वे से जोड़ा, अयोध्या और वाराणसी को छोड़ा: अखिलेश

नई दिल्ली ( 18 फरवरी ): उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ बड़ा मोर्चा खोलने की तैयारी में लगी समाजवादी पार्टी ने आज गोरखपुर लोकसभा उप चुनाव के लिए अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। लखनऊ में आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी के प्रत्याशी के रूप में प्रवीण कुमार निषाद के नाम पर मुहर लगा दी है। प्रवीण निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ संजय निषाद के बेटे हैं। इसके साथ ही सपा उपचुनाव के लिए पीस पार्टी ने भी अपना समर्थन दिया है। सपा के चुनाव चिन्ह पर इंजीनियर प्रवीण निषाद चुनाव लड़ेंगे। 

अखिलेश यादव ने पीस पार्टी और निषाद पार्टी का समर्थन मिलने पर धन्यवाद दिया है। माना जा रहा है कि गोरखपुर उपचुनाव के लिए अखिलेश ने नई रणनीति बनाई है। रविवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता करते हुए अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला।

अखिलेश यादव ने कहा- हम पूरी तरह से तैयार हैं, लड़ेंगे और लड़कर जीतेंगे। भाजपा के झूठ की वजह से लोगों में इर्रिटेशन हो रहा है। ये सिर्फ बातें कर रहे हैं। इस उपचुनाव में हम केंद्र के घोषणा पत्र और विधानसभा के घोषणा पत्र को लेकर जाएंगे। अब सच्चाई पर चर्चा हम करेंगे। इन्होंने पहले चाय पर चर्चा करके उलझाया, अब पकौड़े पर उलझाने की तैयारी कर ली है।

अखिलेश यादव ने साथ ही मुख्यमंत्री योगी पर भी निशाना साधा। अखिलेश यादव ने कहा कि ये पुजारी(सीएम योगी) तो बहुत स्वार्थी निकले। उन्होंने कहा कि हम पर सैफई को बजट देने के लिए आरोप लगाते थे। अब उन्होंने गोरखपुर को तो एक्सप्रेस-वे से जोड़ दिया, लेकिन अयोध्या और वाराणसी को नहीं जोड़ा।