अपने बेटे को बचाने के लिए पार्टी तोड़ रहे हैं रामगोपाल: मुलायम सिंह

नई दिल्ली ( 11 जनवरी ): समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने आज सपा कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि रामगोपाल पार्टी तोड़ रहे हैं। चुनाव आयोग से अलग अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी और सिम्बल मोटर साइकिल मांग रहे हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि मेरे पास आप लोगों के अलावा कुछ नहीं है आप लोग मेरा साथ दीजिये। मैं अपने साइकिल निशान को बचाने के लिये सब कुछ करने के लिये तैयार हूं।

उन्होंने कहा कि रामगोपाल दूसरी पार्टी के अध्यक्ष से मिलकर हमारे खिलाफ साजिश कर रहे हैं। अगर हमसे कहते तो हम उनके बेटे बहू को बचा लेते। मगर गलत हाथों में खेल रहे हैं। मुलायम ने कहा कि हमने बहुत मेहनत से पार्टी खड़ी की है। कई बार खून बहाया और कई बार जेल भी गया। शिवपाल ने भी बहुत काम किया रात में छुप जाता था और दिन में प्रचार करता था। इन लोगों ने संघर्ष नहीं देखा अब भाजपा नेताओं से मिलकर साजिश रच रहे हैं।

एसपी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को कहा कि समाजवादी पार्टी का ना तो चुनाव चिह्न बदलेगा, न नाम। एसपी दफ्तर में कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संबोधित करते हुए मुलायम ने पहले इशारों में और फिर साफ तौर पर नाम लेते हुए कहा कि पार्टी में विवाद के लिए एक बार फिर रामगोपाल यादव को जिम्मेदार बताया। मुलायम ने कहा कि रामगोपाल अलग पार्टी बनाना चाहते हैं, वह चार बार दूसरी पार्टी के अध्यक्ष से मिल चुके हैं। इस दौरान शिवपाल यादव भी मुलायम के साथ मौजूद थे।

अपने संबोधन में मुलायम ने रामगोपाल पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा,' रामगोपाल अपने लड़के-बहू के कहने पर पार्टी तोड़ रहे हैं। वह अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बना रहे हैं जिसके लिए उन्होंने मोटरसाइकल चुनाव चिह्न मांगा है। रामगोपाल 4 बार बीजेपी अध्यक्ष से मिले हैं।'