यूपी में बसपा और सपा पर टूटा मुसीबतों का पहाड़!

नई दिल्ली (9 जनवरी): चुनाव आयोग के पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों की तारीख का ऐलान करने के बाद हर पार्टी का नेता वोटरों को अपनी तरफ खींचने की जुगत में लगा हुआ है।

कोई भी पार्टी मतदाताओं को अपनी तरफ आकर्षित करने का मौका नहीं छोड़ना चाहती। ऐसे में उत्तर प्रदेश से सपा और बसपा के लिए बुरी खबर आ रही है। यहां पुलिस ने एक सपा और चार बसपा के विधानसभा चुनाव के उम्मीदवारों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पांचों ही अलग-अलग विधानसभा के उम्मीदवार हैं। इनके खिलाफ आचार सहिंता का उल्लंघन करने का केस दर्ज किया गया है।

यूपी में 11 फरवरी से विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं ऐसे में चुनाव आयोग ने पुलिस को सख्त हिदायत दे रखी है कि आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आए।

इसी के तहत सपा के खतौली विधानसभा के उम्मीदवार चंदन सिंह चौहान के खिलाफ आचार संहिता का उल्लंघन करने का केस दर्ज किया गया है। चौहान पर आरोप है कि उन्होंने बिना प्रशासन को इत्तला किए मीटिंग का आयोजन किया। ये जानकारी सर्कल ऑफिसर हरीराम यादव ने दी है।

वहीं दूसरे मामले में बसपा के मुहम्मद इस्लाम के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। इरफान पर आरोप है कि उन्होंने बिना प्रशासन की इजाजत के समर्थकों के साथ रोड शो का आयोजन किया। मामले में एसएसआई मुहम्मद युसुफ ने जानकारी देते हुए कहा कि शामली जिले के कांदला में इस्लाम ने बिना इजाजत रोड शो का आयोजन किया। मीडिया रिपोर्ट के  मुताबिक, पूर्वी उत्तर प्रदेश के बिजनौर और बुलुंदशहर में भी इसी तरह के मामले दर्ज किए गए हैं। एक केस बूधापुर विधानसभा के बसपा विधायक मुहम्मद गाज़ी के खिलाफ दर्ज किया गया है। ये जानकारी तहसीलदार सुरेश कुमार ने दी है। और बुलंदशहर में बसपा उम्मीदवार मुकुल उपाध्याय के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। जोकि शिकारपुर से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। इनके खिलाफ भी बिना इजाजत मीटिंग करने का आरोप है।