अंबेडकर जयंती के मौके पर और गहरी होगी सपा-बसपा की 'दोस्ती'

लखनऊ(14 अप्रैल): देशभर में आज संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर की जंयती धूमधाम से मनाई जा रही है। अंबेडकर के बहाने समाजावादी पार्टी और बसपा और करीब आने वाले हैं।

समाजवादी पार्टी ने अपने सभी जिलाध्यक्षों और महानगर अध्यक्षों को पत्र लिखकर कहा है कि 14 अप्रैल को आंबेडकर दिवस पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाए और बाबा साहेब के जीवन पर प्रकाश डाला जाए। माना जा रहा है कि जिले स्तर पर आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम के जरिए निचले स्तर पर सपा और बसपा काडर के बीच मेल-मिलाप करवाया जाएगा।

दरअसल, समाजवादी पार्टी और बसपा में नजदीकी आने के बाद अब दोनों पार्टियों की नजर मिशन 2019 पर है। दोनों पार्टियों के लिए यह पहला मौका होगा जब कार्यकर्ताओं के बीच बाबा साहेब के बहाने ही सही, लेकिन सकारात्मक संदेश दिया जा सके। 

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी खुद 14 अप्रैल को पहले हजरतगंज की अंबेडकर प्रतिमा पर जाएंगे और फिर सपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। हालांकि दोनों पार्टियां पहले ही कह चुकी है कि वो सियासी तौर पर किसी का मंच साझा नहीं करेगी, लेकिन साथ ही दोनों पार्टियां यह मैसेज देने की कोशिश कर रही है कि जमीनी स्तर पर सबकुछ ठीक है।