दक्षिण कोरिया का आरोप, उत्तर कोरिया उठा रहा है भड़काने वाला कदम

नई दिल्ली (21 जून): दक्षिण कोरियाई सेना ने आज कहा कि इस माह के शुरू में उसके असैन्यीकृत क्षेत्र में जो जासूसी ड्रोन विमान मिला था वह उत्तर कोरिया का था और यह कोरिया युद्ध विराम समझौत का उल्लंघन है जिसे भड़काऊ कार्रवाई के रूप में देखा जा सकता है।

रक्षा मंत्रालय और सैन्य अधिकारियों ने बताया कि यह उत्तर कोरिया ड्रोन विमान लौटते समय नष्ट हो गया था और इसमें जासूसी कैमरा लगा था जिसमें दक्षिण कोरिया में अमेरिकी प्रक्षेपास्त्र निरोधक प्रणाली के फोटोग्राफ पाए गए हैं। इस विमान के भीतर लगे कंप्यूटर से उसके आने जाने के रास्ते और अन्य जानकारियों का विश्लेषण किया गया है। सेना के ज्वाइंट चीफ आफ स्टाफ के एक अधिकारी ने कहा कि उत्तर कोरिया द्वारा हमारे वायु क्षेत्र का उल्लंघन करना युद्व विराम समझौते का उल्लंघन है और बार-बार हमारी सीमा का उल्लंघन किया जाना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

हम इस तरह की उकसावे वाली कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हैं। अगर उत्तर कोरिया का यही रूख रहा तो हमारी सेना इसका करारा जवाब देगी और इसके लिए उत्तर कोरिया ही जिम्मेदार होगा।