जानें, राष्ट्रपति मून ने क्यों कहा भारत और दक्षिण कोरिया के बीच है खून का रिश्ता ?

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 जुलाई): दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति  मून-जे-इन भारत के दौरे पर है।  मून-जे-इन का ये दौरान भारत और दक्षिण कोरिया दोनों के लिए बेहद खास है। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति के इस दौरे का महत्व इस बात से भी समझा जा सकता है कि मून-जे-इन ने कहा कि दक्षिण कोरिया और भारत का भावनात्मक रिश्ता है। भारत का दक्षिण कोरिया के बीच खून का संबध है। भारत और दक्षिण कोरिया के लोग आपस में भाई-बहन हैं। मान्यता के मुताबिक आज से तकरीबन 2000 साल पहले अयोध्या की रानी ने दक्षिण कोरिया के राजा से शादी की थी।

बताया जाता है कि कोरियाई राजघराने की पहली महारानी ओक का जन्म अयोध्या में हुआ था। 16 साल की उम्र में उन्हें एक सपना आया और वो अपने पति की तलाश में साउथ कोरिया पहुंची थीं। वहां जाकर उन्होंने साउथ कोरिया के राजा से शादी कर ली। मान्यता के मुताबिक तकरीबन दो हजार साल पहले अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना को 16 साल की उम्र में एक दिन सपना आया , जिसमें बताया गया था कि उन्हें समुद्र पार करने के बाद पति की प्राप्ति होगी। इस बात को जब उनके माता-पिता को बताया तो उन्हें हां कर दी और वो यात्रा पर निकल गई। नाव से सुरीरत्ना दक्षिण कोरिया पहुंची और वहां के राजा सूरो से शादी कर ली।