स.अफ्रीका ने दूसरी बार चेज किया वनडे इतिहास का सबसे बड़ा टारगेट

नई दिल्ली(6 अक्टूबर): वनडे क्रिकेट इतिहास में 10 साल पहले सबसे बड़ा टारगेट चेज कर चुकी साउथ अफ्रीका ने एक बार फिर ऐसा ही कारनामा किया है। अफ्रीका ने गुरुवार को डरबन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे का दूसरा बड़ा टारगेट चेज किया। उसने 49.2 ओवर में ही 372 रन का टारगेट हासिल कर मैच जीत लिया। डेविड मिलर ने सेंचुरी (118) लगाई।

- पांच मैच की सीरीज के बुधवार को हुए तीसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया पहले बैटिंग करने उतरी और 6 विकेट पर 371 रन बनाए।

- इसमें कप्तान स्टीव स्मिथ ने 108 और डेविड वॉर्नर ने 117 रन बनाए। जवाब में साउथ अफ्रीका ने 4 विकेट और 4 बॉल शेष रहते मैच जीत लिया।

- मिलर ने 79 बॉल पर 10 चौके और 6 छक्के लगाकर 118 रन बनाए। मिलर और एंडिले (42 नॉटआउट) के बीच 7वें विकेट के लिए 105 रन की पार्टनशिप हुई।

- साउथ अफ्रीका ने इस मैच में वनडे क्रिकेट हिस्ट्री का दूसरा बड़ा टारगेट चेज किया।

- इससे बड़ा टारगेट (435) चेज करने का रिकॉर्ड भी 10 साल पहले अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही बनाया था।

- यह मैच 12 मार्च 2006 को जोहानिसबर्ग में हुआ था। ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर में 434 रन बनाए। जवाब में अफ्रीका ने 438 रन बनाकर मैच जीत लिया।

- मिलर ने इस मैच विनिंग इनिंग के दौरान 79 बॉल में सेंचुरी लगाई। यह द. अफ्रीका की तरफ से वनडे में सातवीं सबसे तेज सेंचुरी है।

- इससे तेज छह सेंचुरी में से पांच एबी डी’विलियर्स के नाम पर है।

- यह किसी अफ्रीकी बैट्समैन की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे तेज वन-डे सेंचुरी है।

- इससे पहले यह रिकॉर्ड क्विंटन डी कॉक के नाम दर्ज था, जिन्होंने 74 बॉल में सेंचुरी लगाई थी।